Corona_UpdatesGiridihJharkhand

#CoronavirusOutbreak: बाहर फंसे गिरिडीह जिले के मजदूरों के लिए सिर्फ एक MLA ने रिलीज किया फंड, मुंबई में दर्जन भर फंसे

विज्ञापन

Giridih: कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए किये गये लॉकडाउन से हर व्यवस्था ठप है. हर गतिविधि पर प्रशासन और पुलिस की नजर है. लेकिन सबसे अधिक परेशानी वैसे लोगों को हो रही है जो रोजगार की तलाश में गिरिडीह से बाहर गये हुए हैं.

लॉकडाउन के कारण बाहर गये मजदूरों को कोई सहयोग नहीं मिल रहा है. सबसे अधिक परेशानी पेट भरने की हो रही है. वैसे बाहर में फंसे मजदूरों की सुध तो राज्य सरकार ने ली है और कई ठोस कदम उनके गिरिडीह लाने के लिए शुरू कर दिये हैं.

advt

मजदूरों की परेशानी को देखते हुए ही जिले के एकमात्र माले विधायक विनोद सिंह ने बगोदर क्षेत्र के अप्रवासी मजदूरों के भरण-पोषण के लिए लाखों रुपये की राशि विमुक्त करने की अनुशंसा की है.

इसे भी पढ़ें : #LockDown21 : कोलकाता से 450 किमी साईकिल चला कर गिरिडीह पहुंचे दर्जन भर लोग, 10 दिन का समय लगा

विनोद सिंह के पत्राचार के बाद पहल तेज

विधायक विनोद सिंह के पत्राचार के बाद अब प्रशासन की पहल भी तेज हो गयी है लेकिन बगोदर विधायक के बाद अब तक सत्ता व विपक्ष के किसी विधायक ने ऐसी पहल शुरू नहीं की है जिससे अप्रवासी मजदूरों को कोई सहयोग मिल सके.

adv

जबकि दर्जन भर से अधिक मजदूर मुंबई के एक इलाके में कोरोना वायरस के खौफ के कारण खुद को सुरक्षित तो कर लिये हैं लेकिन इन मजदूरों के पास अब इतने पैसे नहीं बचे हैं कि वे अपना भरण-पोषण कर सकें.

जानकारी के अनुसार मुंबई में फंसे दर्जन भर मजदूर जिले के जमुआ विधानसभा क्षेत्र के देवरी के किसी गांव के रहने वाले बताये जा रहे हैं. फिलहाल यह स्पस्ट नहीं हो पाया है कि मुंबई में फंसे मजदूर कहां और किस परिस्थति में हैं.

लेकिन मुंबई में फंसे मजदूर जमुआ विस के जमुआ प्रखंड के शिबूडीह और देवरी के बेरिया मनिकबाद गांव के रहने वाले बताये जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : #CoronavirusOutbreak : चतरा जिले के मजदूर महाराष्ट्र में फंसे, झारखंड सरकार से लगायी मदद की गुहार

वीडियो फुटेज भेजकर मांगी मदद

इनमें से एक मजदूर ने वीडियो फुटेज और फोटो भेजकर मदद मांगी है. शुक्रवार को जब वीडियो फुटेज और फोटो देवरी के मनिकबाद गांव के एक समाजसेवी पवन यादव को मिला, तो पवन ने पहल करते हुए मजदूरों के लिए सात हजार उनके खाते में भेजे.

इसे मुंबई में फंसे मजदूरों को अगले कुछ दिनों तक राहत तो मिल सकती है लेकिन क्षेत्र के भाजपा विधायक केदार हाजरा की ओर से अब तक कोई पहल नहीं की गयी है जिससे मजदूरों को राहत मिल सके.

वैसे गौर करने वाली बात यह भी है कि जिले के कई ऐसे इलाके है जहां के लोग रोजगार के लिए दूसरे राज्यों में गये हुए हैं लेकिन दूसरे राज्यों में गये मजदूरों की जानकारी लेने में अब तक किसी विधायक ने कोई ठोस कदम नहीं उठाया है और ना ही उनके सहयोग के लिए अपने स्तर से कोई पहल की है.

इसे भी पढ़ें : #Lockdown21: धनबाद में भारत सरकार लिखी हुई गाड़ी में ढोयी जा रही थी सवारी, पुलिस ने करायी उठक-बैठक

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close