BokaroJharkhandRanchi

#Corona: बोकारो के दो मरीजों के सैंपल की रिपोर्ट पहले बतायी गयी निगेटिव, तीन दिन बाद पॉजिटिव

Ranchi/Bokaro : सोमवार को देर रात बोकारो से 2 पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि की गयी थी. दोनों की उम्र 40 के आसपास है और वे नावाडीह के रहने वाले हैं.

दोनों 16 मई को मुंबई से लौटे थे. 17 मई को स्वाब लेकर इनके सैंपल को जांच के लिए पीएमसीएच भेजा गया था. 22 मई को इनकी रिपोर्ट निगेटिव आयी थी जिसके बाद इन्हें घर भेज दिया गया.

इसके बाद उसी सैंपल से दोबारा जांच की गया जिसमें 25 मई को इन्हें पॉजीटिव पाया गया.

Sanjeevani

बोकारो के सिविल सर्जन ने बताया कि एक बार पहले निगेटिव बताया गया था, पर सोमवार को दोबारा इनकी रिपोर्ट भेजी गयी जो पॉजिटिव थी.

हमने इस विषय में पीएमसीएच से पता करने की कोशिश की कि आखिर कौन सी रिपोर्ट सही है. इस पर पीएमसीएच के लैब से बस यह जानकारी मिली कि जिस रिपोर्ट को सोमवार को भेजा गया है वह सही है. पिछली रिपोर्ट का जिक्र उन्होंने नहीं किया.

सिविल सर्जन ने बताया कि दो तरह की रिपोर्ट ने कन्फ्यूजन क्रिएट कर दिया है, लगता है यह प्रिंटिंग मिस्टेक हुई है. इस कन्फ्यूजन को जल्द ही ठीक कर लिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें – 28 मई से जांची जायेंगी मैट्रिक-इंटर की कॉपियां, जिनके पास गाड़ी नहीं उन्हें कैब से आने का निर्देश

स्वास्थ्य विभाग बोकारो ने दोबारा भेजा है सैंपल

बोकारो के सिविल सर्जन ने बताया कि इस कंफ्यूजन को दूर करने के लिए दोबारा जांच करायी गयी है. जांच रिपोर्ट आने के बाद ही या निर्णय हो पायेगा कि उन्हें बीजीएच के कोविड-19 वार्ड जाना है या नहीं.

इसके अलावा उन्होंने बताया कि अगर वे पॉजिटिव पाए जाते हैं तो उनके घर के लोगों को भी  क्वॉरेंटाइन किया जायेगा.

मामले की गंभीरता को देखते हुए स्वास्थ्य सचिव नितिन मदन कुलकर्णी ने संज्ञान लिया है और पीएमसीएच के लैबोरेट्री अथॉरिटी को शोकॉज किया गया है.

नितिन मदन कुलकर्णी ने कहा कि वह इस मामले की गंभीरता को देख रहे हैं कि कैसे एक बार निगेटिव आग चुके व्यक्ति को जब घर भेज दिया गया था उसके बाद उसी स्वाब से दोबारा रिपोर्ट पॉजिटिव मिली.

इसे भी पढ़ें – #Jharkhand: राशन कार्ड जांच और PDS दुकानों समेत सभी गैर शैक्षणिक कार्यों में शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति पर रोक

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button