Corona_UpdatesJharkhandMain SliderRanchi

#Corona: झारखंड भी 31 मार्च तक लॉकडाउन, आवश्यक सेवाएं जारी रहेंगी

Ranchi : कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए झारखंड में भी 31 मार्च तक लॉकडाउन कर दिया गया है. सीएम हेमंत सोरेन ने रविवार शाम एक हाइ लेवल मीटिंग के बाद इसकी घोषणा की.

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मुख्यमंत्री ने देर शाम अपने कांके रोड स्थित आवास पर राज्य के आला अधिकारियों के साथ  बैठक की.

बैठक में मुख्यमंत्री ने सरकार की ओर से कोरोना वायरस से बचाव के लिए उठाये जा रहे कदमों की जानकारी साझा की. उसके बाद स्थिति गंभीर देखते हुए पूरे राज्य में लॉकडाउन की घोषणा कर दी.

कोरोना से फैलने वाले संक्रमण को रोकने के लिए राज्य के सभी 24 जिलों को सरकार के आदेश के बाद तत्काल लॉकडाउन कर दिया गया है. स्वास्थ्य, चिकित्सा विभाग ने यह आदेश जारी कर दिया है.

इसे भी पढ़ें : पलामू : संभावित कोरोना पीड़ित दंपति हुसैनाबाद में मिला, आइसोलेशन वार्ड में रखे गये, जांच के लिए सेम्पल भेजा गया

सोमवार सुबह 6 बजे से लॉकडाउन 

सीएम सोरेन ने बताया कि यह लॉकडाउन सोमवार की सुबह छह बजे से 31 मार्च की रात 12 बजे तक रहेगा.

सीएम के निर्देश के बाद राज्य के सारे बॉर्डर सील होंगे. हालांकि जरूरी चीजों जुड़ी चीजों की दुकान खुली रहेंगी. दवा दुकान, दूध दुकान की सेवा बाधित नहीं होंगी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि लॉकडाउन के आदेश का उल्लंघन करने पर कानूनी कार्रवाई की जा सकती है.

इस दौरान कोई भी पब्लिक ट्रांसपोर्ट सर्विस को इजाजत नहीं होगी। इसमें प्राइवेट बसें, टैक्सी, ऑटो रिक्शा, रिक्शा, ई-रिक्शा सब बंद रहेंगी.

सारे शॉप्स, बाजार, व्यापारिक प्रतिष्ठान, फैक्ट्री, वर्कशॉप, ऑफिस, गोदाम, साप्ताहिक बाजार ये सब बंद रहेंगे. राज्य से सभी राज्यों के बॉर्डर सील कर दिये जायेंगे. जरूरी सामानों जैसे दूध, सब्जियां, खाने-पीने के सामानों की आपूर्ति को इजाजत होगी.

देश के 75 जिले पहले ही लॉकडाउन 

इससे पहले देश के करीब 75 जिले पूरी तरह से लॉकडाउन किये जा चुके हैं. इनमें वे जिले शामिल हैं जहां भी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. झारखंड के कुछ देर पहले बिहार में लॉकडाउन की घोषणा हुई. बिहार में कोरोना से एक युवक की मौत हो चुकी है.

लॉकडाउन के  दौरान आकस्मिक सेवाओं को छोड़कर राज्य सरकार के सभी कार्यालय बंद रहेंगे. सभी पदाधिकारियों कर्मी अपने घर से सरकारी कार्यो का निपटारा करेंगे. आवश्यकता पड़ने पर उन्हें कार्यालय बुलाया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें : #JantaCurfew के बीच कोरोना से भयभीत कामगार राजस्थान, गुजरात और यूपी से लौटे गिरिडीह, बगैर जांच के पहुंचे घर

लॉकडाउन में और क्या-क्या?

सभी प्रकार के निर्माण कार्य तत्काल प्रभाव से स्थगित रहेंगे. सभी धार्मिक स्थल दर्शनार्थियों के लिए पूर्णतः बंद रहेंगे.

विदेश जाने वाले सभी नागरिक अन्य राज्यों से आये हुए सभी नागरिक स्वास्थ्य अधिकारी  क्वॉरेंटाइन का कड़ाई से अनुपालन करेंगे. सभी नागरिक अपने घर पर रहेंगे.

बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति के क्रम में बाहर जाने पर सामाजिक दूरी के दिशा-निर्देशों का पालन करेंगे.

आवश्यक सेवाएं प्रदान करने वाले कई कार्यालय प्रतिबंधों से रहेंगे मुक्त.

ये रहेंगे लॉकडाउन से मुक्त 

  • विधि व्यवस्था से संबंधित पदाधिकारी
  • पुलिस
  • स्वास्थ्य
  • अग्निशमन सेवाएं
  • कारा सेवाएं
  • राशन दुकान
  • बिजली, पेयजल आपूर्ति, नगरपालिका सेवाएं
  • बैंक, एटीएम, प्रिंट इलेक्ट्रॉनिक एवं सोशल मीडिया
  • टेलीकॉम, इंटरनेट, पोस्टल सेवाएं, खाद्य आपूर्ति से संबंधित परिवहन सेवाएं
  • खाद्य पदार्थ, किराने का सामान, दूध, ब्रेड, फल और सब्जी के परिवहन एवं भंडारण की गतिविधियां.

इसे भी पढ़ें : मनरेगा मजदूरी 171 से बढ़ाकर 280 करने की दिशा में हेमंत सरकार, केंद्र से किया अनुरोध

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button