GiridihJharkhand

#Giridih: सवा महीने में 209 कोरोना जांच रिपोर्ट निगेटिव आयीं, 80 की रिपोर्ट बाकी

  • लॉकडाउन व शारीरिक दूरी का सख्ती से पालन कराने में गिरिडीह प्रशासन रहा सक्रिय
  • अनुमति मिलने के भ्रम में खुली आधा दर्जन कपड़ा दुकानें, लोगों की बढ़ी चिंता

Giridih: लॉकडाउन की घोषणा के बाद से लगातार भेजे जा रहे संदिग्धों के सैंपल की जांच रिपोर्ट गिरिडीह को सुकून देने वाली है क्योंकि सवा महीनें में अब तक सिर्फ एक को छोड़कर 209 जांच रिपोर्ट निगेटिव आयी है. वैसे 80 सैंपल की रिपोर्ट आनी बाकी है.

गिरिडीह में कोरोना के कम असर के लिए गिरिडीह प्रशासन, पुलिस, चिकित्सकों व स्वास्थ्य कर्मियों को श्रेय देना उचित होगा. लॉकडाउन की घोषणा के बाद से प्रशासन और पुलिस सजग रहे. यही वजह रही कि कोरोना के संक्रमण और खौफ से शहर सुरक्षित है.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ें : अच्छी खबर : बोकारो के 4 मरीज ठीक होकर लौटे, जिला प्रशासन ने ताली बजा कर बढ़ाया हौसला

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

गृह मंत्रालय के आदेश से पैदा हुआ भ्रम 

हालांकि गृह मंत्रालय के आदेश से पैदा हुई गलतफहमियों के कारण शनिवार को जब किराना, सब्जी और फल दुकानें खुली, तो शहर में आधा दर्जन कपड़ों की दुकानें भी खुल गयीं.

कपड़ों की दुकान खुलने के बाद पहले दिन करीब-करीब हर दुकानों में सिर्फ सफाई का कार्य ही होता रहा. कुछ ही दुकानों में ग्राहक नजर आये. वे भी शारीरिक दूरी के नियमों का पालन करते हुए.

जिन कपड़ा दुकानों में ग्राहक दिखें, उनके दुकानदार तीन से चार ग्राहकों को कपड़ा बेचते दिखे. इस दौरान जब कुछ और ग्राहकों ने दुकान में खरीदारी करने का मन बनाया, तो दुकानदारों ने ग्राहकों को लौटा दिया.

हार्डवेयर दुकानें भी कुछ खुली दिखीं, लेकिन इन दुकानों से ग्राहक गायब थे .

शहर के कुछ कपड़ा दुकानदार इस बात को लेकर भ्रमित रहे कि गैरजरुरी समानों के दुकान खोलने का आदेश केन्द्रीय गृह मंत्रालय की ओर से जारी हुआ जबकि राज्य सरकार द्वारा ऐसा कोई आदेश नहीं जारी किया गया.

इसे भी पढ़ें : साहेबगंज : सीएम हेमंत सोरेन की छवि धूमिल करने के आरोप में दो पत्रकार सहित पांच गिरफ्तार

सख्ती बरतनी पड़ी

बहरहाल, शनिवार की सुबह जब सब्जी व फल के फुटकर दुकानें चौक-चौराहों में लगीं, तो हर दिन की तरह ही खरीदारों की भीड़ भी शारीरिक दूरी और लॉकडाउन के नियमों को ताक पर रखकर खरीदारी करती नजर आयी.

इस दौरान शारीरिक दूरी के नियमों का पालन कराने निकले बीडीओ गौतम भगत, सीओ रवीन्द्र सिन्हा और नगर थाना प्रभारी को सख्ती बरतनी पड़ी.

चौक-चौराहों में लगी दुकानों से जहां भीड़ को हटाया गया, वहीं कई सब्जी व फल दुकानदारों को भी हटाना पड़ा.

इसे भी पढ़ें : रांची डीसी ने दी थी बसों को बाहर जाने की अनुमति, सरकार के शो-कॉज का नहीं दिया जवाब, कोर्ट ने लगायी फटकार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button