National

#Corona से मौत पर परिजनों को अब नहीं मिलेंगे 4 लाख, पर इलाज का खर्च सरकार उठायेगी

विज्ञापन

New Delhi: कोरोना वायरस से मरने वालों के परिजनों को चार लाख रुपये मुआवजा देने के फैसले को सरकार ने वापस ले लिया है.

मोदी सरकार ने कोरोना वायरस से मौत होने पर स्टेट डिजास्टर रेस्पॉन्स फंड से मृतकों के परिजनों को 4 लाख की मुआवजा राशि देने का ऐलान किया था. सरकार के संयुक्त सचिव संजीव कुमार जिंदल ने अधिसूचना जारी कर इसकी जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि अब स्टेट डिजास्टर रेस्पॉन्स फंड के तहत कोरोना वायरस के इलाज में होने वाले खर्च को दिया जायेगा.

advt

इसका मतलब यह है कि अब अगर कोई कोरोना वायरस की चपेट में आता है, तो उसके आइसोलेशन और जांच से लेकर इलाज तक में होने वाला खर्च ही सरकार देगी.

इसे भी पढ़ें : #Corona का कहरः इटली में एक दिन में 250 मौतें, अमेरिका में इमरजेंसी घोषित, सऊदी अरब ने इंटरनेशनल फ्लाइट पर लगायी रोक

दुनियाभर में 5000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है

केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया था कि सरकार ने कोविड-19 को आपदा की तरह लेने का फैसला किया है ताकि एसडीआरएफ के अंतर्गत सहायता उपलब्ध करायी जा सके.

सरकार ने कहा था कि कोरोना वायरस से जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को 4 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जायेगी, जिनमें वो लोग भी शामिल हैं जिनकी मौत राहत अभियान से या इससे जुड़ी गतिविधि में हुई हो.

adv

जान लें कि चीन के वुहान से फैली इस महामारी से दुनियाभर में 5000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

इसे भी पढ़ें : #Corona संदिग्धों की लापरवाही से बढ़ रहा खतराः नागपुर में फरार 5 में 3 लौटे, बेंगलुरु से संक्रमित महिला पहुंची आगरा

भारत, चीन, जापान, थाइलैंड औऱ अमेरिका वायरस को आइसोलेट करने में सफल रहे हैं

भारत ने उस समय से ही इसके खिलाफ तैयारी शुरू कर दी थी, जब दिसंबर के आखिरी में चीन में इसके छिटपुट मामले सामने आये थे.

इसी का नतीजा है कि भारत दुनिया का पांचवां देश बन चुका है जिसने डब्ल्यूएचओ द्वारा घोषित वैश्विक महामारी (PANDEMIC) को आइसोलेट यानी अलग-थलग करने में सफलता अर्जित कर ली है.

खबर है कि भारत से पहले चीन, जापान, थाइलैंड औऱ अमेरिका वायरस को आइसोलेट करने में सफल रहा है.

इसे भी पढ़ें : सावधान रहें क्योंकि लक्षण नजर आने से पहले ही फैल चुका होता है #CoronaVirus: स्टडी

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button