World

Corona Effect : फ्रांस में दूसरा लॉकडाउन, 700 किलोमीटर लंबा ट्रैफिक जाम लगा

लॉकडाउन की सूचना पर लोग अपना सामान लेकर अपने परिवार-दोस्तों के पास  या फिर जरूरी सामान खरीदने के लिए निकल पड़े.

Paris : कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए फ्रांस में गुरुवार शाम दूसरे लॉकडाउन की घोषणा होते ही लोगों में हलचल मच गयी. खबर है कि लॉकडाउन का असर फ्रांस की राजधानी पेरिस में  देखने को मिला. वहां 700 किलोमीटर लंबा ट्रैफिक जाम लग गया. बताया गया कि लॉकडाउन की सूचना पर लोग अपना सामान लेकर अपने परिवार-दोस्तों के पास  या फिर जरूरी सामान खरीदने के लिए निकल पड़े.

Jharkhand Rai

आस-पास के इलाकों को जोड़कर देखने पर जाम 700 किलोमीटर तक लंबा बताया गया.  कहा गया कि इस लंबे जाम का कारण  नया लॉकडाउन था. जिसकी वजह से लोगों को एक महीने तक अपने घर के अंदर रहना होगा.

इसे भी पढ़ें : पीएम मोदी की सरदार वल्लभभाई पटेल को विनम्र श्रद्धांजलि… राष्ट्रीय एकता दिवस परेड की सलामी ली

चार सप्ताह के लॉकडाउन का आदेश जारी

बढ़ते संक्रमण के कारण फ्रांस के  अधिकारियों ने शुक्रवार से चार सप्ताह के लॉकडाउन का आदेश दिया. फ्रांस के सभी 6,7 करोड़ लोगों को हर समय घर पर रहने का आदेश दिया गया है. इस दौरान कोई भी आने-जाने वाला किसी के घर नहीं जा सकता है. हालांकि घर के एक किलोमीटर के भीतर एक दिन के व्यायाम के लिए एक घंटे के लिए बाहर जाने की अनुमति दी गयी है.

Samford

इसके अलावा अस्पताल, काम की जगहों और जरूरी सामान खरीदने के लिए बाहर जाया जा सकता है.  रेस्तरां और कैफ़े बंद कर दिये गये हैं. प्रधानमंत्री जीन कास्टेक्स ने गुरुवार को कहा, दोस्तों के घरों में जाना, दोस्तों के पास जाना और निर्धारित कारणों के अलावा किसी भी चीज के लिए घूमना असंभव होगा.

लॉकडाउन की घोषणा के प्रभावी होने से पहले ही लोग अपने वाहन उठाकर निकल पड़े. जिस कारण  जाम लग गया. जाम लगने का दूसरा बड़ा कारण था इस वीकेंड पर पड़ने वाला सेंट्स डे हॉलीडे. इसलिए लोगों ने जाने में ज्यादा तेजी दिखाई.

इसे भी पढ़ें : अमेरिकी राष्ट्रपति पद का चुनाव इतिहास रचेगा, कीमत 14 बिलियन डॉलर… जो बिडेन को एक बिलियन डॉलर का चंदा

कई यूरोपीय पड़ोसी देश संक्रमण का सामना कर रहे हैं

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन ने देश भर में संक्रमणों में तेजी से वृद्धि को रोकने के लिए एक अंतिम उपाय के रूप में लॉकडाउन को लागू किया, जहां नये दैनिक मामले वर्तमान में लगभग 50,000 हैं. लेकिन फ्रांस अकेला नहीं है.  इसके कई यूरोपीय पड़ोसी बढ़ते संक्रमण का सामना कर रहे हैं. कुछ देशों मे संक्रमण पहले से भी ज्यादा तेज गति से फैलता दिखा है.  बेल्जियम में भी आने वाले संक्रमण मामलों की संख्या  प्रति 100,000 लोगों पर 150 है. फ्रांस में ये संख्या 62 है.

इसे भी पढ़ें :  जो बाइडेन के मुख्य सलाहकारों में शामिल हैं भारतीय मूल के डॉ विवेक मूर्ति और अर्थशास्त्री राज चेट्टी

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: