NationalWest Bengal

Corona से मरे शख्स को दफनाने में नहीं मिली मदद, 48 घंटे तक परिवार ने शव को फ्रीजर में रखा

Kolkata: पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकता में कोरोना वायरस से मरे एक बुजुर्ग मरीज को दफनाने के लिए अधिकारियों की ओर से कोई मदद नहीं मिली. जिसकी वजह से परिवार को उनका शव कम से कम 48 घंटे तक फ्रीजर में रखना पड़ा.

इसे भी पढ़ें- Corona Update : बुधवार को झारखंड में कुल 35 कोरोना पॉजिटिव मिले, कुल संख्या 3051

advt

सोमवार को हुई थी शख्स की मौत

स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों ने बताया कि सांस में तकलीफ से जूझ रहे 71 वर्षीय इस व्यक्ति की मध्य कोलकाता के राजा राममोहनराय सरानी इलाके स्थित उसके घर में सोमवार को मौत हो गयी थी. जिस डॉक्टर के पास वह सोमवार को दिखाने गये थे उसने उन्हें कोरोना वायरस की जांच कराने को कहा था और उन्होंने जांच भी करायी. परिवार के सदस्य ने बताया कि लेकिन घर लौटने के बाद उनकी स्थिति बिगड़ गयी और दोपहर को उनकी मौत हो गयी.

परिवार के सदस्य के अनुसार सूचना पाकर संबंधित डॉक्टर पीपीई किट में उस व्यक्ति के घर गया. डॉक्टर ने यह कहते हुए मृत्यु प्रमाणपत्र नहीं जारी किया कि यह कोविड-19 मामला है और उसने परिवार वालों को अहमर्स्ट स्ट्रीट थाने से संपर्क करने की सलाह दी.

इसे भी पढ़ें- पुलिसिया जांच में दबाव बनाने की नियत से होटल संचालक ने इटखोरी थाना प्रभारी पर मारपीट व पैसे लेने का लगाया था आरोप

नहीं मिली कहीं से मदद

पुलिस ने परिवार को स्थानीय पार्षद से संपर्क करने को कहा। परिवार के सदस्य ने कहा, ‘‘ वहां भी हमें कोई मदद नहीं मिली और हमें राज्य स्वास्थ्य विभाग से संपर्क करने को कहा गया. परिवार के दूसरे सदस्य ने कहा कि हमने हेल्पलाइन नंबर पर स्वास्थ्य विभाग को भी कॉल किया लेकिन किसी ने कोई जवाब नहीं दिया. तब परिवार ने कई मुर्दाघरों से संपर्क किया, लेकिन वहां से भी मदद नहीं मिली.

फिर परिवार ने अंतिम संस्कार तक शव को रखने के लिए फ्रीजर का इंतजाम किया. बुजुर्ग की जांच रिपार्ट मंगलवर को आयी थी और कोविड -19 की पुष्टि हुई. बुधवार को परिवार को स्वास्थ्य विभगा का कॉल आया तब उन्होंने सारी बात बतायी. फिर कोलकाता नगर निगम के लोग आये और शव को अंतिम संस्कार के लिए ले गये.

इसे भी पढ़ें- बिहार: Corona केस बढ़कर 10 हजार से पार, अब तक 73 लोगों की मौत

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: