BokaroJharkhand

कोरोना संकट : BSL ने कर्मचारियों को जेब में हैंड-सैनिटाइज़र की छोटी बोतल ले कर काम पर आने को कहा है

Bokaro : बोकारो स्टील टाउनशिप में पिछले कुछ दिनों से कोरोना पॉजिटिव मरीजों के मिलने से बीएसएल प्रबंधन की चिंता बढ़ गयी है. कंपनी ने एडवाइजरी जारी कर अपने कर्मचारियों और अधिकारियों को उसका पालन करने की अपील की है. शहर में कोरोना के मरीज़ मिलने पर जिस मोहल्ले को प्रशासन कन्टेनमेंट जोन घोषित करेगा उस इलाके के कर्मचारी अब प्लांट नहीं जायेंगे. और वर्क फ्रॉम होम करेंगे. बीएसएल ने अपने सभी कर्मियों को बैग या पॉकेट में छोटा हैंड-सैनिटाइज़र की बोतल एहतियात के तौर पर काम के समय रखने को कहा है.

इसे भी पढ़ेंः Corona Update : कोडरमा में 11 और गुमला में 1 नया कोरोना पॉजिटिव केस, कुल आंकड़ा पहुंचा 3068

advt

15 दिनों में चार मामले सामने आये

पिछले 15 दिनों में, बोकारो स्टील टाउनशिप में चार कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए. जिसमें तीन क्षेत्रों को प्रशासन द्वारा माइक्रो-कन्टेनमेंट ज़ोन घोषित किया गया. दो माइक्रो-कन्टेनमेंट जोन सेक्टर-9 में बने हैं. और एक कैंप-2 में बना है.  बीएसएनएल के संचार प्रमुख मणिकांत धान के अनुसार “उभरती स्थिति के मद्देनजर सभी कर्मचारियों को सलाह दी गयी है कि वे कार्यालय परिसर में हर समय सोशल डिस्टन्सिंग और स्वच्छता दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करें.

इसके अलावा, कर्मचारियों को कहा गया है कि उन्हें कार्यालय परिसर में प्रवेश की अनुमति तभी दी जाएगी जब वे फेस मास्क के साथ आएंगे. उन्हें कार्यालय के अंदर हर समय फेस मास्क पहनना होगा. ”

इसे भी पढ़ेंः Kanke Dam : 10 एकड़ से अधिक जमीन पर हो चुका है कब्ज़ा, 12 जुलाई से शुरू होगा कांके डैम बचाओ आंदोलन

ये निर्देश जारी किये

सभी कर्मचारियों को प्रवेश स्थल पर थर्मल स्कैनिंग डिवाइस के माध्यम से कार्य स्थल में प्रवेश करने से पहले अपना तापमान रोजाना जांच करवाना अनिवार्य है. संयंत्र के अंदर प्रवेश करने की अनुमति केवल उन्हीं कर्मचारियों को होगी जिनका तापमान सामान्य सीमा में होगा. बीएसएल प्रबंधन ने यह भी निर्देश दिया है कि कर्मचारियों को अपने सहयोगियों के साथ या मीटिंग में शारीरिक दूरी बनाए रखनी होगी.

बीएसएल प्रबंधन ने फिलहाल सेंट्रलाइज्ड एयर कंडीशनिंग सिस्टम को बंद कर दिया है. एक बार में लिफ्ट में केवल दो व्यक्तियों ही जा सकेंगे. जो कर्मचारी नियमों का उल्लंघन करते हुए पाए जायेंगे, उनपर सरकारी दिशानिर्देशों के अनुसार अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी. इसके अलावा प्रबंधन ने अन्य दिशा निर्देश भी दिए है.

आज बुधवार को बोकारो जनरल हॉस्पिटल (बीजीएच) के कोविद वार्ड से दो मरीजों को रिहा कर दिया गया है.  जिसमे एक मरीज सेक्टर-9  इलाके की है.  उन्हें 14  दिन होम क्वारंटाइन रहने को कहा गया है.  वही मंगलवार को हालांकि, 89 वर्षीय एक महिला के तीन दिन बाद उसके कोरोना पॉजिटिव होने की रिपोर्ट आई है. उसकी मौत इलाज के दौरान चास में नीलम अस्पताल में हो गयी है.  इसके बाद स्वास्थ डिपार्टमेंट के अधिकारियो ने उस हॉस्पिटल के 29 डॉक्टर और स्टाफ को इंस्टीटूशनल क्वारंटाइन कर दिया है.

इसे भी पढ़ेंः अब तक का सबसे बेहतर रिजल्ट, टॉपर्स को निश्चित रूप से देंगे ऑल्टो कार : शिक्षा मंत्री

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: