Corona_UpdatesNational

काबू में आया कोरोना, रिकवरी रेट पहुंचा 96 फीसदी पर

लेकिन मौत के आंकड़े अब भी चिंता का सबब

Uday Chandra Singh

New Delhi: कोरोना का टीका लेने वाले व्यक्तियों में संक्रमण के बाद अस्पताल में भर्ती होने की संभावना 75-80 फीसदी कम होती है. ऐसे व्यक्तियों को ऑक्सीजन की जरूरत की संभावना लगभग 8 फीसदी है.

जो लोग टीका ले चुके होते हैं उन्हें आईसीयू में ले जाने की संभावना भी सिर्फ़ 6 फीसदी है. यह जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ्रेंस में नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ वीके पॉल ने दी.

advt

प्रेस कॉन्फ्रेंस में देश में कोरोना की स्थिति की जानकारी देते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि पिछले 24 घंटे में सक्रिय मामलों की संख्या घटकर 7,98,656 हो गई है. इसके साथ ही पिछले 3 दिनों में सक्रिय मामलों में 1,14,000 की कमी आई है जबकि रिकवरी दर बढ़कर 96 फीसदी हो गई है.

इसे भी पढ़ें :सुमित्रा मित्रा ने जीता यूरोपीयन इंवेंटर अवार्ड, एक अरब को हो चुका हैं इनकी टेक्नीक से फायदा

adv

बेशक, दूसरी लहर के तहत प्रतिदिन के एक्टिव केस भले कम हो गए हों लेकिन मौत का आंकड़ा अभी भी चिंता का सबब बना हुआ है. कोरोना के दैनिक संक्रमित मामलों में उतार-चढ़ाव जारी है। बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस के 62,480 नए मामले दर्ज किए गए हैं, जबकि 1587 मरीजों ने इस खतरनाक वायरस के आगे दम तोड़ा है.

लव अग्रवाल ने बताया कि अब तक 22 करोड़ से अधिक लोगों को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगाई जा चुकी है जबकि 5 करोड़ से अधिक लोगों को दूसरी डोज दी गई है.

इसे भी पढ़ें :अजब फर्जीवाड़ाः जीजा की जगह पांच साल से साला कर रहा था पुलिस की नौकरी

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: