World

विवाद : मिनेसोटा के गवर्नर ने सीएनएन पत्रकार की गिरफ्तारी के लिए मांगी माफी

विज्ञापन

New york : पुलिस हिरासत में अश्वेत व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद हो रहे हिंसक प्रदर्शनों पर रिपोर्टिंग कर रहे सीएनएन के एक पत्रकार की टेलीविजन पर सीधे प्रसारण के दौरान गिरफ्तारी के बाद मिनेसोटा के गवर्नर टिम वाल्ज ने माफी मांगी है.

सीएनएन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जेफ जकर ने वाल्ज से यह जवाब मांगने की अपील की कि उन्हें पुलिस की वैन में क्यों ले जाया गया. इसके एक घंटे के भीतर सीएनएन संवाददाता उमर जिमेनेज और उनके दो सहकर्मियों को रिहा कर दिया गया.

इसे भी पढ़ेंः अमेरिका में हालात बिगड़े : पुलिस हिरासत में अश्वेत फ्लॉयड की मौत के बाद कई शहरों में हिंसक प्रदर्शन

वाल्ज ने कहा, ‘‘हमने यह सुनिश्चित किया है कि यह कहानी बताने के वास्ते पत्रकारिता के लिए सुरक्षित स्थान हो.’’

जिमेनेज और उनके सहकर्मी बिल किर्कोस और लियोनेल मेंदेज अश्वेत फ्लॉयड की मौत के बाद हुई आगजनी और लोगों के आक्रोश को बताते हुए सीएनएन के ‘न्यू डे’ कार्यक्रम के लिए लाइव रिपोर्टिंग कर रहे थे. फ्लॉयड की मौत के मामले में बर्खास्त किए गए अधिकारी डेरेक चाउविन पर शुक्रवार को हत्या का आरोप लगाया गया.

इसे भी पढ़ेंः मोदी सरकार का एक साल: बंटा हुआ भारत और पाई-पाई के मोहताज राज्य

रिहा होने के बाद अश्वेत जिमेनेज ने कहा कि वह खुश हैं कि उनकी गिरफ्तारी का सीधा प्रसारण किया गया.

बाद में संवाददाता सम्मेलन में वाल्ज ने कहा, ‘‘मैं पूरी जिम्मेदारी लेता हूं. इस तरह की चीजें होने की कोई वजह नहीं है. उस टीम से मैं सार्वजनिक रूप से माफी मांगता हूं.’’

सीएनएन ने वाल्ज की माफी स्वीकार करते हुए कहा कि नेटवर्क उनके शब्दों की सच्चाई की सराहना करता है.

इसे भी पढ़ेंः #Lockdown के बावजूद राज्यभर में पिछले वर्ष से 31 फीसदी अधिक हुई धान की खरीद

 

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close