JamshedpurJharkhand

घूसखोरी पर नियंत्रण हेमंत की बड़ी चुनौती : नामधारी

  • यूपी तय करेगा 2024 का आमचुनाव
  • किसान को बदनाम करने की मुहिम फेल हुई, मीडिया पूछे मौत का जिम्मेदार कौन

Jamshedpur: झारखंड विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष एवं लोकसभा के प्रोटेम स्पीकर रहे इंदर सिंह नामधारी ने कहा कि झारखंड में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन वाकई अच्छा कर रहे हैं. सरकार आपके द्वार तथा अन्य कार्यक्रम के द्वारा वे जनता तक पहुंच रहे हैं परंतु झारखंड पर भ्रष्टाचार पर अभी तक लगाम पूरी तरह नहीं लगा है. हेमंत सरकार को चाहिए कि वह ऐसे पदाधिकारियों को उपायुक्त और एसपी के तौर पर नियुक्त करें जो वास्तव में जनता एवं प्रदेश के हित में कुछ करना चाहते हैं. वह मुख्यमंत्री से मिलेंगे तो उन्हें सलाह देंगे कि इस धारणा पर विराम लगना चाहिए कि ट्रांसफर पोस्टिंग उद्योग का शक्ल ले चुका है. गुरदीप सिंह पप्पू की भगिनी के विवाह समारोह में शामिल होने पहुंचे इंदर सिंह नामधारी ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के संगठन एवं सरकार में शक्तिशाली होने के दौर को याद करते हुए कहा कि उन्हें अच्छी सलाह देने की हैसियत में कोई नहीं था और वैसे ही स्थिति देश में आज बनी हुई है.

प्रधानमंत्री ने अपनी इच्छा से तीन कृषि कानून बना दिए और फिर एक साल बाद उन्होंने इसे हड़बड़ी में वापस भी ले लिया. इस आंदोलन में तकरीबन सात सौ किसान शहीद हुए हैं. आंदोलन को पाकिस्तानी खालिस्तानी उग्रवादी की संज्ञा देकर बदनाम करने की भी कोशिश हुई परंतु वह मुहिम असफल हुई. लोकतंत्र के चौथे मजबूत स्तंभ मीडिया को प्रधानमंत्री से यह सवाल जरूर पूछना चाहिए कि आखिरकार इन 700 मौतों का जिम्मेदार कौन है. परंतु यहां तो मीडिया प्रधानमंत्री को शंकर बता रहा है कि उन्होंने जहर पी लिया है. उनके अनुसार यूपी का चुनाव सेमीफाइनल होगा और वही 2024 की दिशा तय करेगा. विपक्ष बटा हुआ है यदि बीजेपी की हार हो गई तो 2024 में इसका असर दिखेगा और वही बीजेपी जीती तो फिर उसे रोक पाना मुश्किल होगा.

advt

वहीं उन्होंने कोविद के दौर में हेमंत सरकार की प्रशंसा करते हुए उसे फुल मार्क्स दिया परंतु यह कहने से नहीं चूके कि झारखंड में रोजगार में वृद्धि होनी चाहिए और विस्थापन का दर्द खत्म होना चाहिए. वहीं उन्होंने केंद्र सरकार से पलायन पर रोकने हेतु के मनरेगा में कार्य दिवस और राशि बढ़ाने की वकालत की.

इस मौके पर झारखंड विकास मंच के अध्यक्ष गुरदीप सिंह पप्पू, उद्यमी हरजीत सिंह, हरविंदर सिंह रॉकी, सांझी आवाज के अध्यक्ष सतवीर सिंह सोमू, ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के जसवीर सिंह छीरे, जसवीर सिंह सोनी, दमनप्रीत सिंह, हरविंदर सिंह इंदर सिंह इंदर, चंचल भाटिया आदि उपस्थित थे.

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: