न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

संस्थान के बाईलॉज के विपरीत दे दिया आइएमए भवन के मल्टीपरपज हॉल के रख-रखाव का काम

कान्हा रेस्टूरेंट को दिया गया काम

57

Ranchi: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आइएमए) रांची के भवन के रख-रखाव का काम संस्थान प्रबंधन की तरफ से मल्टीपरपज हॉल के रख-रखाव का काम कान्हा रेस्टूरेंट को दे दिया गया है. कान्हा रेस्टूरेंट की तरफ से मल्टीपरपज हॉल का व्यावसायिक इस्तेमाल किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ेंःJPSC: एक पेपर जांचने के लिए चाहिए 60 से अधिक टीचर, मेंस एग्जाम की कॉपी चेक करना बड़ी चुनौती

आइएमए के बाई लॉज के हिसाब से उसकी संपत्ति का व्यावसायिक उपयोग किसी थर्ड पार्टी की ओर से नहीं किया जा सकता है. संस्थान के बाईलॉज के विपरीत यह काम कान्हा को दिया गया है. सूत्र बताते हैं कि कान्हा रेस्टूरेंट की तरफ से आइएमए भवन के हॉल का जीर्णोद्धार कराया गया है. इसमें कंपनी की तरफ से पैसे लगाये गये हैं. इस बाबत ही आइएमए प्रबंधन की तरफ से कंपनी को संस्थान की संपत्ति का रख-रखाव करने का जिम्मा दे दिया गया है.

hosp3

यहां यह बता दें कि कान्हा रेस्टूरेंट को राजधानी के न्यायिक अकादमी (ज्यूडिशियल एकेडमी), धुर्वा और पेयजल और स्वच्छता विभाग के प्रशिक्षण केंद्र विश्वा के हाउसकीपिंग का काम भी मिला हुआ है. आइएमए के मल्टीपरपज हॉल के जीर्णोद्धार में एक मोटी रकम खर्च की गयी है. हॉल को पूरी तरह वातानुकूलित बनाते हुए उसमें एक हजार लोगों तक की पार्टी करने की व्यवस्था की गयी है.

इसे भी पढ़ेंःराज्य प्रशासनिक सेवा के 420 पोस्ट खाली, 25 अफसरों पर गंभीर आरोप, 07 सस्पेंड, 06 पर डिपार्टमेंटल प्रोसिडिंग, 05 पर दंड अधिरोपण

1942 में गठित हुई थी आइएमए रांची की शाखा

आइएमए की राष्ट्रीय शाखा की तरफ से 1942 में आइएमए रांची शाखा के गठन की घोषणा की गयी थी. 1941 में डॉ पीएन चौधरी बतौर अध्यक्ष और डॉ पीपी नारायण और एसएन पाल बतौर सचिव ने काम काज शुरू किया था. आइएमए रांची के लिए सरकार की तरफ से जमीन उपलब्ध करायी गयी थी. फिलहाल आइएमए के सात सौ से अधिक सदस्य हैं.

चिकित्सकों को फ्री में देते हैं हॉल, बाहरी बुकिंग भी लेते हैं : टिंकू सिंह

कान्हा रेस्टूरेंट के संचालक टिंकू सिंह से न्यूजविंग संवाददाता ने बातचीत के क्रम में पूछा कि आखिर आइएमए भवन का काम आपको कैसे मिला. उन्होंने कहा कि चिकित्सकों ने एग्रीमेंट कर हमें रख-रखाव (मेंटेनेंस) का काम दिया है. आइएमए भवन की देखरेख का जिम्मा अब हमारा है. हमलोग मल्टीपरपज हॉल की बुकिंग भी करते हैं, जिसके लिए एक निश्चित रकम भी ली जाती है. चिकित्सकों की बुकिंग नि:शुल्क की जाती है. शादी-ब्याह और अन्य अवसरों के लिए यह बुकिंग की जाती है. इसमें विद्युत सज्जा से लेकर टेंट हाउस तक की व्यवस्था भी हमारे द्वारा ही की जाती है.

इसे भी पढ़ें – अब पाकुड़ की जनता कह रही कैसे डीसी के संरक्षण में हो रहा है अवैध खनन, सवालों पर डीसी चुप

हमारे समय नहीं हुआ समझौता : डॉ आरके सिंह

आइएमए के पूर्व सचिव डॉ आरके सिंह ने पूछे जाने पर बताया कि हमारे समय में एग्रीमेंट नहीं हुआ है. फिलहाल डॉ नीतेश प्रिया आइएमए के सचिव हैं, वही इस पर प्रकाश डाल सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: