JharkhandLead NewsRanchi

बिरसा मुंडा बस टर्मिनल में एंट्री के लिए ठेकेदारों ने तय किया टोल टैक्स, कर रहे मोटी कमाई

Ranchi : राजधानी का सबसे बड़ा बस टर्मिनल बिरसा मुंडा बस टर्मिनल नगर निगम की देखरेख में चल रहा है. हर साल इसके लिए टेंडर भी किया जाता है. जिससे कि बस टर्मिनल की व्यवस्था दुरुस्त रहे. वहीं साफ-सफाई से लेकर मेंटेनेंस भी उनकी जिम्मेवारी है. लेकिन ठेकेदार अब मनमानी पर उतर आए हैं.  इतना ही नहीं टर्मिनल में एंट्री के लिए भी टोल टैक्स तय कर दिया है. ऐसे में बस टर्मिनल एरिया में एंट्री करने वाले से ठेकेदार के लोग वसूली कर रहे है. भले ही आप किसी को छोड़ने या रिसीव करने ही क्यों न गए हो. इसके बावजूद नगर निगम ठेकेदार पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है.

इसे भी पढ़ें : कस्तूरबा गांधी बालिका स्कूल में टीचर्स की नौकरी के लिये अपराधी कर रहे फ्रॉड कॉल, सरकार ने दी बचने की सलाह

पहुंचते ही थमा देते हैं रसीद

राजधानी में कोई ऐसी जगह नहीं है जहां पर एंट्री के लिए टोल टैक्स वसूला जाता है. वहीं नगर निगम की पार्किंग में भी 3 घंटे के लिए पांच रुपए चार्ज लिया जाता है. लेकिन टर्मिनल में एंट्री के साथ ही ठेकेदार 10 रुपए की रसीद थमा देता है. इस चक्कर में स्टाफ और पब्लिक के बीच हमेशा तू-तू मैं-मैं भी होती है.

एक मिनट का भी टैक्स

टर्मिनल एरिया में पहुंचते ही ठेकेदार के लोग रसीद लेकर सामने हाजिर हो जाते हैं. वहीं गाड़ी को जबरन रोककर 10 रुपए लेते हैं. जबकि नगर निगम की पार्किंग में भी पहले 10 मिनट की पार्किंग फ्री है. इसके बाद ही उनसे 5 रुपए टू व्हीलर के लिए और फोर व्हीलर के लिए 20 रुपए लिए जाते है, जो 3 घंटे के लिए वैलिड होता है. लेकिन यहां टर्मिनल में घुसने के लिए भी टोल टैक्स वसूला जा रहा है. भले ही आप एक मिनट में ही बाहर निकल जाएं.

हर जगह से वसूली कर रहे ठेकेदार

नगर निगम के टेंडर में पहले बोली 2.20 करोड़ की लगी थी. इसमें इरफान खान ने सबसे ज्यादा बोली लगाई थी. इस बार टर्मिनल के संचालन के लिए सबसे ऊंची बोली साजिद मलिक ने लगाई है. इसके बाद से ही ठेकेदार के लोग हर जगह से वसूली करने में लगे हैं. टर्मिनल में आने वाली गाड़ियों के अलावा सवारी लेकर आने वाले पब्लिक ट्रांसपोर्ट से भी टोल टैक्स वसूला जा रहा है.

इसे भी पढ़ें : त्रिस्तरीय पंचायत: अवधि विस्तार के गिफ्ट से गदगद हैं झारखंड के मुखिया

Advt

Related Articles

Back to top button