HazaribaghJharkhand

संवेदक संघ ने शेड्यूल रेट घटाये जाने का किया विरोध

जब तक सरकार शेड‍यूल रेट नहीं बढ़ायेगी, सभी टेंडरों का किया जाएगा बहिष्कार : मेहता

Hazaribag: झारखंड सरकार द्वारा जारी शेड‍यूल रेट घटाये जाने पर हजारीबाग संवेदक संघ ने विरोध किया है. यह निर्णय संवेदक संघ हजारीबाग ने बुधवार को कार्यालय में बैठक कर लिया. संवेदक संघ के अध्यक्ष दीपक कुमार मेहता ने कहा कि जब तक सरकार शेड‍यूल रेट नहीं बढ़ायेगी तब तक जिले में निकलनेवाली निविदा नहीं भरेंगे. टेंडरों का बहिष्कार किया जायेगा.

मेहता ने कहा कि सरकार ने जो शेड‍यूल रेट जारी किया है वह काफी कम है. जो रेट वर्ष 2018 में था. उस रेट से भी 20 प्रतिशत की कमी कर दी गयी है.

advt

जबकि वर्ष 2018 से 2021 के बीच तीन साल में ईंटा, बालू, छर्री, सीमेंट, बालू, छड, बिजली का सामान, मजदूर का रेट दुगुना बढ़ गया है. इस स्थिति में काम कर पाना संभव नहीं है. इसलिए हजारीबाग जिले के सभी संवेदकों ने सभी टेंडरों का बहिष्कार करने का निर्णय लिया है.

इसे भी पढ़ें:नेशनल लेवल की परीक्षाओं पर कोरोना इम्पैक्ट, अधिकांश परीक्षाएं स्थगित एप्लीकेशन डेट बढ़े

जारी शेडयूल रेट से 20 प्रतिशत अधिक बढ़ाने की मांग

जिले के सभी संवेदकों ने निर्णय लिया है कि झारखंड सरकार के द्वारा जारी शेडयूल रेट से 20 प्रतिशत अधिक बढ़ाये, ताकि काम करने में संवेदकों को आसानी होगी. संवेदक अच्छे क्वालिटी में काम करा सके क्योंकि सभी सामानों के रेट दिन प्रतिदिन आसमान छू रहे हैं.

सरकार शेडयूल रेट को दुबारा तय करे और बाजार भाव के हिसाब से शेडयूल रेट निर्धारित करे. इसके बाद कोई भी टेंडर प्रक्रिया शुरू करे. जब तक सरकार हमारी मांगे नहीं मानेगी हम सभी संवेदक इसका विरोध करते रहेंगे.

बैठक में संघ के सचिव मुकेश कुमार, कोषाध्यक्ष पवन गुप्ता, मुख्य संरक्षक दीपक कुमार, अजय सिंह, उपाध्यक्ष संजय उपाध्याय, विशेश्वर यादव, उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें :‘कभी खुशी कभी गम’ से ‘बाबा का ढाबा’ जाने के लिए भी बन जाता है ई-पास, ऐसे बन रहा मजाक

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: