Education & CareerJharkhandRanchi

शीघ्र परीक्षा लेने की मांग को लेकर आंदोलन की राह में 14 वे वित्त आयोग के संविदा कर्मी

परीक्षा या मेरिट के आधार पर जल्द नियुक्ति प्रक्रिया पूरी करने की मांग

Ranchi : 15वें वित्त आयोग में संविदा आधारित कनीय अभियंता तथा लेखा लिपिक सह कंप्यूटर ऑपरेटर की नियुक्ति प्रक्रिया संपन्न कर 15 जुलाई तक योगदान कराने का आश्वासन विभागीय मंत्री आलमगीर आलम ने दिया था. इसके बाद भी अभी तक कुछ खास कार्रवाई नहीं हुई है.अब 14वे वित्त आयोग के कर्मी आंदोलन की राह पर हैं.

इससे पहले भी आंदोलन की रणनीति बनी थी पर पुनः विभागीय मंत्री ने जुलाई अंत तक परीक्षा लेकर नियुक्ति देने का वादा किया था. यह भी नही हो सका.बता दे की परीक्षा लेने के लिए पहले कोरोना महामारी को देखते हुए अनुमति नहीं दी जा रही थी.लेकिन अब 20 जुलाई 2021 को आपदा प्रबंधन विभाग ने परीक्षाएं लेने की स्वीकृति दे दी है.

advt

इसे भी पढ़ें :नौवीं के छात्र 15 अगस्त तक कर सकते हैं ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन बिहार बोर्ड ने डेट बढ़ाई

लेकिन अब तक परीक्षा की तिथि घोषित नही की गई है. विभाग में संपर्क किए जाने के बाद पिछले 12 दिनों से वित्त कर्मियों को सिर्फ बहलाया जा रहा और लगभग एक महीने बाद कि तिथि तय करने पर विचार करने की बात कही जा रही है.

14 वित्त आयोग के कर्मी संघ ने कहा की कोरोना की तीसरी लहर की आने की आशंका बनी हुई है. ऐसे में आपदा प्रबंधन विभाग से अनुमति मिलने के तुरंत बाद परीक्षा ले लेनी चाहिए थी परंतु 12 दिन बाद भी 15 वे वित्त का एग्जाम नहीं लिया गया.

इसे भी पढ़ें :राज्यभर में इंटर के रिजल्ट को लेकर फूटा गुस्सा, JAC से छात्रों ने मांगा इंसाफ

विभाग का रवैया सकारात्मक नहीं

इनका कहना है कि पूर्व में विभाग बोलता आ रहा था कि आपदा से अनुमति मिलने के बाद 1 सप्ताह में 15 वें वित्त की नियुक्ति प्रक्रिया संपन्न करा ली जाएगी. परंतु अनुमति मिलने के बाद भी विभाग सक्रिय भी हुआ परन्तु एक महीने बाद कि तिथि पर विचार करना पंचायत के विकास के प्रति सकारात्मकता को नहीं दर्शाता है.

कर्मचारियों का कहना है कि एग्जाम नहीं लेती है तो सरकार फिर तीसरे लहर का बहाना बनाना प्रारम्भ कर देगी जबकि कोरोना का संक्रमण दर अभी कम है और आपदा से अनुमति भी प्राप्त है.

सरकार से 14 वें वित्त कर्मी संघ ने मांग की है की तीन दिनों में अविलंब एग्जाम की तिथि घोषित किया जाये. वरना सभी वित्त कर्मी 3 दिनों बाद रांची में जुटेंगे और क्रमबद्ध तरीके से जोरदार आंदोलन करने को मजबूर होंगे .

इसे भी पढ़ें :पीएम मटेरियल पर सीएम नीतीश का आया जवाब, कहा- हम सेवक हैं, पीएम बनने की इच्छा और आकांक्षा नहीं

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: