JamtaraJharkhand

अनुबंध चिकित्सा कर्मी ने उपायुक्त को सौंपा ज्ञापन, मांगें पूरी नहीं होने पर आइसोलेशन में जाने की चेतावनी

JAMTARA : झारखंड राज्य ANM-GNM अनुबंध कर्मचारी संघ की जिला अध्यक्ष रेखा कुमारी व संघ के सचिव गीता हेंब्रम ने राज्य कमिटी के आह्वान पर आज डीसी एवं सिविल सर्जन को एक ज्ञापन सौंपा.

ज्ञापन में उल्लेख है कि पिछले साल अगस्त माह में समायोजन एवं नियमितीकरण सहित अन्य मांगों को लेकर ANM- GNM संघ एवं पारा चिकित्सा संघ अनिश्चितकालीन हड़ताल पर गए थे.

हड़ताल के दौरान मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री से सकारात्मक वार्ता होने के बाद राज्य कमिटी द्वारा हड़ताल वापस लिया गया था. लेकिन 9 माह होने के बाद भी सरकार इस पर कोई ठोस पहल नहीं हुई. जिससे अनुबंध कर्मियों में रोष व्याप्त है.

advt

इसे भी पढ़ें:पारा शिक्षकों के मानदेय अंशदान में कटौती, राज्य सरकार को तंग करना केंद्र का उद्देश्य : रामेश्वर उरांव

रेखा कुमारी ने कहा कि झारखंड राज्य में सबसे शोषित कर्मचारी है तो वह है अनुबंधित पारा चिकित्सा संघ. अनुबंध कर्मी सुदूर ग्रामीण क्षेत्र के पहाड़, जंगल में पहुंच कर सरकार के कार्यक्रम को सफल बना रहे हैं.

स्वास्थ्य विभाग अपनी पीठ थपथपा रहा है. जबकि कोविड-19 महामारी काल में हमारे कितने अनुबंधित कर्मी काल के गाल में समा गए. बाबजूद सरकार चुपचाप रही.

उन्होंने कहा की डीसी व सीएस के द्वारा ज्ञापन देकर सरकार को चेतावनी दी गई है कि 31 मई तक हमारी मांगे समायोजन व नियमितीकरण एवं समायोजन होने तक समान काम का समान वेतन सरकार दे.

इसे भी पढ़ें:नयी मुसीबत : अब इंसानों में मिला कुत्तों का कोरोना वायरस, लेकिन चिंता की बात नहीं – रिसर्च

सरकार यदि 31 मई तक कोई ठोस निर्णय नहीं लेती है तो विरोध में सभी अनुबंध कर्मी काला बिल्ला लगाकर कार्य करेंगे. यदि 3 जून तक सरकार कोई ठोस कदम नहीं उठाती है तो 4 जून से अनुबंधित पारा चिकित्सा कर्मी स्वतः होम आइसोलेशन में चले जाएंगे.

इस दौरान यदि किसी के साथ कोई अप्रिय घटना घटती है तो इसकी सारी जवाबदेही सरकार और विभाग की होगी.

इसे भी पढ़ें:रिम्स में 13 किलो लीटर का ऑक्सीजन प्लांट किया जा रहा है इंस्टॉल, 325 बेड पर होगी सप्लाई

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: