न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

 सीजेआई पर यौन शोषण केआरोप साजिश, वकील ने पेश किये सबूत, सीबीआई, आईबी  को SC में पेश होने का आदेश    

स्टिस गोगोई पर यौन शोषण के आरोप के मामले में वकील उत्सव बैंस ने SC में वह सबूत पेश किये हैं

78

NewDelhi : सीजेआई रंजन गोगोई पर यौन शोषण  का आरोप लगा कर फंसाने की साजिश रची गयी थी.  बता दें कि जस्टिस गोगोई पर यौन शोषण के आरोप के मामले में वकील उत्सव बैंस ने SC में वह सबूत पेश किये हैं, जिनके आधार पर बैंस ने यह दावा किया था कि सीजेआई को फंसाने के लिए साजिश रची गयी थी. जान लें कि सीजेआई पर आरोप लगाने के पीछे बड़ी साजिश का दावा करने वाले वकील उत्सव बेंस कोर्ट नंबर चार मे पेश हुए थे.  अब कोर्ट ने बेंस द्वारा सौंपे गये सबूतों को देखने के बाद सीबीआई डायरेक्टर, दिल्ली पुलिस कमिश्नर और आईबी चीफ को कोर्ट में तलब किया है.  इस मामलें में  सुनवाई कर रही  SC की बेंच में शामिल जस्टिस अरुण मिश्रा ने वकील उत्सव बैंस से पूछा कि आप क्या कहना चाहते हैं?

mi banner add

इसे भी पढ़ेंभाजपा नेताओं के नफरत भरे बोल पर आखिर प्रधानमंत्री कब बोलेंगे: चिदंबरम

यह न्यायपालिका की स्वतंत्रता का मुद्दा है

पूछे जाने पर बैंस ने कोर्ट से कहा कि मैं इस पूरी साजिश को लेकर सीलकवर में दस्तावेज दे रहा हूं. इसे सबके सामने खोला जा सकता है.  कहा कि एक सीसीटीवी फुटेज भी है जिससे खुलासा होगा. इसके बाद बेंच ने सीलकवर को खोला और एजी से कहा कि सीबीआई डायरेक्टर को कोर्ट चेंबर में बुलाया जाये. बता दें कि सीबीआई निदेशक मौजूद नहीं हैं, ऐसे में सीबीआई के ज्वाइंट डायरेक्टर कोर्ट में पेश होंगे. सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई डायरेक्टर, दिल्ली पुलिस कमिश्नर और आईबी चीफ को 12.30 बजे मिलने के लिए बुलाया. इस मामले पर तीन बजे फिर सुनवाई की जायेगी. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वो सभी से मिलकर यह तय करेंगे कि इस मामले की जांच को कैसे आगे बढ़ाया जाये. क्योंकि इस मामले में संस्थान की छवि खराब करने को लेकर एक बड़ी साजिश है.

Related Posts

कर्नाटक संकटः बागी विधायकों पर सुप्रीम कोर्ट आज सुना सकता है फैसला

बीजेपी नेता येदियुरप्पा का दावाः भाजपा 4-5 दिन में सरकार बनायेगी

अटॉर्नी जनरल तुषार मेहता ने कहा कि सीबीआई के डायरेक्टर इस समय दिल्ली से बाहर है, वह नहीं आ पायेंगे. ऐसे में ज्वाइंट डायरेक्टर कोर्ट आ सकते हैं. तुषार मेहता ने कहा कि संस्थान का नाम खराब करने के पीछे बड़ी साजिश है. इसके लिए एसआईटी बनाई जाये. कोर्ट ने कहा, यह न्यायपालिका की स्वतंत्रता का मुद्दा है. यह गंभीर मसला है. साथ ही कोर्ट ने कहा कि बेंस की सुरक्षा जारी रहनी चाहिए.

बता दें, सुप्रीम कोर्ट के वकील उत्सव बैंस ने दावा किया था कि सीजेआई रंजन गोगोई को बदनाम करने की साजिश रची गयी, ताकि वे इस्तीफा दे दें. बैंस ने यह भी दावा किया है कि इसके लिए उनसे भी संपर्क किया गया था और कहा गया था कि वो प्रेस क्लब ऑफ इंडिया में इस संबंध में प्रेस कॉन्फ्रेंस करें. इसे लेकर एक युवक ने उन्हें 1.5 करोड़ रुपये तक देने का ऑफर दिया था. साथ ही उत्सव बैंस दावा किया कि उन्होंने इससे इनकार कर दिया और वे इस मामले की जानकारी देने सीजेआई के घर गये थे लेकिन वे उपलब्ध नहीं थे.

इसे भी पढ़ेंःअरुणाचल प्रदेश-नेपाल में भूकंप के झटके, रिक्टर पैमाने पर 6.1 रही तीव्रता

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: