न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भाजपा के संकल्प पत्र पर कांग्रेस का तंज, कहा- यह झांसा पत्र है, मोदी जी कर रहे जुमलों की खेती

सुरजेवाला ने आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि देश में 4 करोड़ 70 लाख नौकरियां चली गयी. मोदी जी ने अपने संकल्प पत्र में नौकरी और रोजगार का नाम तक नहीं लिया.

65

NewDelhi :  भाजपा द्वारा लोकसभा चुनाव के मद़देनजर संकल्प पत्र जारी किये जाने के बाद कांग्रेस ने भाजपा पर जम कर हमला बोलाा है. बता दें कि सीनियर नेता नेता अहमद पटेल, रणदीप सुरजेवाला ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसे संकल्प पत्र नहीं,   झांसा पत्र बताया.  कहा कि सत्तारूढ़ भाजपा ने पांच सालों में सिर्फ बहाना बनाया है.   इस क्रम में  कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस के घोषणापत्र के बीच का फर्क उनके कवरपेज से ही देखा जा सकता है.  हमारे घोषणा पत्र में लोगों की भीड़ नजर आ रही है, जबकि भाजपावाले में केवल एक ही व्यक्ति पीएम मोदी का चेहरा  है. कहा कि भाजपा मैनिफेस्टो के बजाय उन लोगों को माफीनामे के साथ आना चाहिए था. बता दे कि  भारतीय जनता पार्टी के संकल्प पत्र पर कांग्रेस ने सोमवार को  निशाना साधा. कपिल सिब्बल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सच नहीं बोल सकते हैं, इसलिए उनकी पार्टी का यह घोषणा-पत्र भी सच्चा नहीं हो सकता है.  यह पूरी तरह से झूठा है.  कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मोदी जी जुमलों की खेती कर रहे हैं. मोदी सरकार का मूल मंत्र है झांसे में फांसो.

इसे भी पढ़ेंः  उज्ज्वला योजना का हाल :  बिहार, एमपी, यूपी और राजस्थान में 85 फीसदी लाभार्थी आज भी चूल्हे पर पकाते हैं खाना

भाजपा  सत्ता के नशे में चूर है

Related Posts

#NobelPrize for #Economics भारतीय मूल के अमेरिकी अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी को

एस्थर डुफलो (Esther Duflo) और माइकेल क्रेमर (Michael Cramer) के साथ अभिजीत बनर्जी को नोबेल पुरस्कार दिया गया है

WH MART 1

सुरजेवाला ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा सत्ता के नशे में चूर है. संकल्प पत्र से अच्छा था भाजपा माफीनामा देती. कहा कि भाजपा ने अपनी नाकामी दूसरों पर थोपी. भाजपा ने आजतक काले धन पर चर्चा नहीं की. भाजपा के शासन में बेरोजगारी बेतहाशा बढ़ी है.  भाजपा को 125 झूठे वादों का हिसाब देना चाहिए. इस क्रम में सुरजेवाला ने आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि देश में 4 करोड़ 70 लाख नौकरियां चली गयी. मोदी जी ने अपने संकल्प पत्र में नौकरी और रोजगार का नाम तक नहीं लिया. घोषणापत्र में नोटबंदी की बात तक नहीं की गयी. सुरजेवाला ने कहा हर महीने 45 हजार करोड़ का कर्ज  लिया गया. सुरजेवाला ने कहा सेना की मजबूती का वादा था, मगर सेना के शौर्य का राजनीतिक इस्तेमाल किया  गया. भारतीय सेना और सैनिक मोदी जी के अत्याचार का शिकार हुए. सुरजेवाला ने कहा कि मोदी सरकार ने हर साल 2 करोड़ रोजगार का वादा किया था. यानी कि पांच साल में दस करोड़ लेकिन इसके उलट 4 करोड़ 70 लाख नौकरियां चली गयी.

इसे भी पढ़ेंः चुनाव आयोग की सरकार को नसीहतः एजेंसियों का हो निष्पक्ष इस्तेमाल

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like