न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मध्यप्रदेश में सीएम की कुर्सी पर आखिरकार खिल गया कांग्रेस का ‘कमल’

कमल होंगे मध्यप्रदेश के 'नाथ', कांग्रेस विधायक दल ने चुना अपना नेता, 17 को कमलनाथ ले सकते हैं सीएम पद की शपथ

36

Bhopal : मध्यप्रदेश में पिछले 15 सालों से खिले कमल को उखाड़ फेंकने के बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री की कुर्सी पर कांग्रेस का ‘कमल’ खिल गया है. दो दिनों के लंबे इंतजार के बाद गुरुवार की रात 11 बजे के बाद आखिरकार यह घोषणा कर ही दी गयी कि मध्यप्रदेश के अगले मुख्यमंत्री कमलनाथ होंगे. गुरुवार की रात भोपाल में कांग्रेस विधायक दल के नेताओं की बैठक में कमलनाथ को विधायक दल का नेता चुन लिया गया. मध्यप्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है. बाद में गुरुवार की ही देर रात 11.45 बजे भोपाल में प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर कांग्रेस ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री पद के लिए कमलनाथ के नाम पर मुहर लगा दी. सीएम की कुर्सी तक पहुंचने की रेस में शामिल ज्योतिरादित्य सिंधिया को पीछे छोड़ कमलनाथ ने जीत हासिल कर ली. हालांकि, प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया गया कि शपथ ग्रहण की तारीख शुक्रवार को तय होगी, लेकिन सूत्र बता रहे हैं कि कमलनाथ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ 17 दिसंबर को ले सकते हैं.

मैं मध्यप्रदेश के मतदाता का आभारी हूं :  कमलनाथ

मध्यप्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री के रूप में खुद के नाम का एलान होने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कमलनाथ ने मध्यप्रदेश के मतदाताओं का आभार व्यक्त किया और पार्टी काे धन्यवाद दिया कि पार्टी ने उनपर विश्वास जताया. उन्होंने कहा कि हम नये इतिहास की शुरुआत करेंगे. जनता ने मुझपर विश्वास जताया है, मैं इस विश्वास पर बना रहूंगा. हम वचनपत्र को पूरा करेंगे.

लंबी माथापच्ची के बाद हुआ फैसला

लंबी माथापच्ची के बाद मध्यप्रदेश में कमलनाथ को मुख्यमंत्री के तौर पर चुन लिया गया है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ दिल्ली में हुई बैठक में उनके नाम पर मुहर लगी, उसके बाद विधायक दल की बैठक में उन्हें नेता चुन लिया गया. कांग्रेस पार्टी के ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर इसकी जानकारी दी गयी. बता दें कि इससे पहले सीएम के नाम को लेकर मंगलवार शाम से माथपच्ची शुरू हो गयी थी. पहले भोपाल में पर्यवेक्षक के साथ लंबी बात हुई, उसके बाद दोनों नेताओं को दिल्ली बुला लिया गया. गुरुवार को दिल्ली में राहुल गांधी के साथ बैठक में कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बैठक की. बैठक में सीएम पद को लेकर सहमति बन गयी. हालांकि बैठक के बाद राहुल के घर से बाहर आये कमलनाथ और सिंधिया ने कहा कि सीएम के नाम का एलान भोपाल में होगा.

राहुल ने किया था ट्वीट 

राहुल गांधी ने बैठक के बाद दोनों नेताओं के साथ एक तस्वीर ट्वीट कर एक संदेश देने की भी कोशिश की थी. इसमें कमलनाथ और सिंधिया भी मौजूद थे. साथ ही राहुल ने लियो टॉलस्टॉय का एक वाक्य भी लिखा, ‘समय और धैर्य, दो ताकतवर योद्धा.’

कार्यकर्ताओं के साथ-साथ पूरे देश को था फाइनल रिजल्ट का इंतजार

इससे पहले भोपाल में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का हुजूम सड़कों पर उतर चुका था. यह हुजूम दो खेमों में बंटा दिख रहा था. एक खेमा ज्योतिरादित्य सिंधिया को सीएम बनाये जाने के फेवर में था, दूसरा चाह रहा था कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ही बनें. आखिरकार गुरुवार की रात यह एलान कर दिया गया कि एक लंबे अर्से के बाद मध्यप्रदेश की सत्ता तक पहुंची कांग्रेस ने कमलनाथ को प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाने का फैसला कर लिया है.

राजस्थान के मुख्यमंत्री पर शुक्रवार को होगा फैसला

इस बीच गुरुवार की देर रात भोपाल में कांग्रेस की ओर से बताया गया कि राजस्थान के मुख्यमंत्री पर शुक्रवार को फैसला लिया जायेगा. बताया गया कि अशोक गहलोत और सचिन पायलट के साथ राहुल गांधी बैठक कर रहे हैं. राहुल गांधी शुक्रवार को दिन के 11-12 बजे तक राजस्थान के नये मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा कर देंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: