JharkhandJharkhand PoliticsLead NewsRanchi

उदयपुर डिक्लेरेशन को झारखंड में आगे बढाएगी कांग्रेस, 5 महीने के लिए तय हुआ स्पेशल प्रोग्राम

Ranchi: पिछले दिनों उदयपुर (राजस्थान) में कांग्रेस का चिंतन शिविर हुआ था. इसके बाद झारखंड में कांग्रेस को और मजबूत करने के मसले पर प्रेस क्लब, रांची में आज पार्टी की महत्वपूर्ण बैठक हुई. प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे, प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर, विधायक दल के नेता आलमगीर आलम समेत तमाम दिग्गज नेता इसमें साथ बैठे. बैठक में उदयपुर डिक्लेरेशन में जारी कार्यक्रमों को झारखण्ड में मूर्त रूप दिये जाने की चर्चा अविनाश पांडे ने की. कहा कि आज जिस तरह से राजनैतिक लाभ के लिए विद्वेष और नफरत की राजनीति भाजपा के द्वारा की जा रही है, ऐसे में हमारा दोहरा दायित्व बन जाता है.

भारत के स्वतंत्रता संग्राम की कोख़ से जन्मी ‘भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस’ असीम संघर्ष, त्याग और बलिदान की बुनियाद पर खड़ी है.

इसे भी पढ़ें:झारखंड पंचायत चुनाव परिणाम : जानें किस जिले में महिला संभालेंगी नेतृत्व तो कहां पुरुषों के हाथों होगी कमान

Chanakya IAS
SIP abacus
Catalyst IAS

देश-प्रेम व बलिदान की भावना से ओत-प्रोत आज़ादी के आंदोलन का आधार था- ‘सबके लिए न्याय’. आज़ादी के बाद अगले 70 वर्षों तक भारत की एकता, अखंडता, प्रगति व उन्नति का रास्ता प्रशस्त हुआ.

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस व उसके नेतृत्व ने कट्टरवाद, नक्सलवाद, उग्रवाद व हिंसा का रास्ता अपनाकर भारत के बहुलतावादी व समावेशी सिद्धांतों को चुनौती देने वाली हर ताकत से लोहा लिया है. आज भी हम अपने दायित्व से पीछे नहीं हटेंगे. इस दौरान पार्टी की ओर से अगले 5 महीनों तक चलाए जाने वाले विशेष कार्यक्रमों पर भी बात हुई.

इसे भी पढ़ें:करोड़पति ठेकेदार डकार रहा था गरीबों का अनाज, अब इतना भरना पड़ेगा जुर्माना

जून से अक्टूबर तक स्पेशल एक्टिविटी

बैठक में राजेश ठाकुर ने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार के गलत नीतियों के कारण देश आज विषम परिस्थितियों से गुजर रहा है. महंगाई, बेरोजगारी देश के नागरिकों के लिए अभिशाप बन गयी है. देश की अर्थव्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो चुकी है. आलमगीर आलम ने कहा कि देश को वर्तमान परिस्थिति से सिर्फ काँग्रेस पार्टी ही निजात दिला सकती है. 1942 में महात्मा गांधी ने अंग्रेजों भारत छोड़ो का नारा दिया था, साल 2022 में देश का नारा भारत जोड़ो है जिसे हम सभी काँग्रेस जनों को मिल जुल कर सफल बनाना है.

बैठक में कुछ महत्त्वपूर्ण निर्णय लिए गए. 1-2 जून को राज्य स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया जायेगा. राज्य स्तर पर राजनीतिक मामलों की समन्वय समिति का गठन किया जाएगा. 9 अगस्त से शुरू होने वाले प्रत्येक जिला समितियों द्वारा 75 किमी लंबी पदयात्रा की शुरूआत की जाएगी.

15 अगस्त को भारत की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के समापन के लिए राज्य मुख्यालय में राज्य स्तरीय विशाल कार्यक्रम का आयोजन होगा. इसी दिन राज्य/जिला/ब्लॉक में ध्वजारोहण और राष्ट्रीय ध्वज के साथ प्रभात फेरी निकाला जाएगा. 11 से 14 जून के बीच जिला स्तरीय कार्यशाला का आयोजन एवं पंचायत सम्मेलन का आयोजन होगा. 2 अक्टूबर से कश्मीर से कन्याकुमारी तक राष्ट्रव्यापी कार्यक्रम ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ की शुरूआत की जायेगी.

इसे भी पढ़ें:Shri Krishna Janmabhoomi जमीन पर बनी शाही ईदगाह को हटाने के मांग संबंधी याचिका सुनवाई के लिए मंजूर, सर्वे का रास्ता हुआ साफ

उपस्थिति

आज की बैठक में पूर्वाेत्तर के तीन राज्यों के प्रभारी व पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय, राज्यसभा सांसद धीरज प्रसाद साहू, अखिल भारतीय कॉंग्रेस कमिटी के सचिव प्रणव झा, झारखण्ड सरकार में शामिल काँग्रेस के मंत्रीगण डॉ रामेश्वर उरांव, बन्ना गुप्ता, बादल पत्रलेख, उप नेता विधायक दल प्रदीप यादव, कार्यकारी अध्यक्ष गीता कोड़ा, बंधु तिर्की, शहजादा अनवर, विधायक दीपिका पांडे सिंह, डॉ इरफान अंसारी, विक्सल कोंगारी, कुमार जयमंगल सिंह, पूर्णिमा नीरज सिंह, अंबा प्रसाद, भूषण बाड़ा, सुखदेव भगत, फुरकान अंसारी, चन्द्रशेखर दुबे (ददई दुबे), के एन त्रिपाठी, कालीचरण मुंडा विशेष रूप से शामिल रहे.

इसे भी पढ़ें:बिहार : सिवान एसपी ने किया 6 पुलिस पदाधिकारियों का तबादला

Related Articles

Back to top button