National

कर्नाटक में सरकार बचाने की कवायद, बागी विधायकों को मनाने की कोशिश में जुटी कांग्रेस

विज्ञापन

Bengaluru : कर्नाटक में जारी राजनीतिक संकट के बीच सीनियर कांग्रेस नेताओं ने इस्तीफा देने वाले विधायकों को मनाने की कोशिश शनिवार को पर्दे के पीछे से शुरू कर दी है. जान लें कि  एक दिन पहले ही मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने विधानसभा में बहुमत परीक्षण की मांग रखकर सबको हैरान कर दिया है.  इसके बाद बागी विधायकों को साधने की कोशिश भी शुरू कर दी गयी है.  कांग्रेस के संकटमोचक और जल संसाधन मंत्री डीके शिवकुमार सुबह पांच बजे हाउसिंग मिनिस्टर एमटीबी नागराज के घर पहुंचे और करीब पांच घंटे तक उनसे बातचीत करते रहे.

रिपोर्ट्स के अनुसार उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर भी नागराज के घर पहुंचे और उनसे इस्तीफा वापस लेना की गुजारिश की. उधर, रामलिंग रेड्डी, मुणिरत्ना और आर रोशन बेग को मनाने की कोशिशें भी जारी हैं.  मुलाकात के बाद नागराज और शिवकुमार ने साथ रहने के संकेत मीडिया के सामने दिये.  नागराज ने कहा कि हालात ऐसे हो गये थे कि उन्होंने इस्तीफा दे दिया लेकिन अब डीके शिवकुमार और दूसरों ने आकर उनसे इस्तीफा वापस लेने का आग्रह किया है.

इसे भी पढ़ेंः दिग्विजय सिंह का दावा , नोटबंदी से भाजपा ने अकूत धन कमाया, उसी से विधायक खरीदे जा रहे हैं

होटेल और रिजॉर्ट में शिफ्ट किये जा रहे हैं विधायक

नागराज ने कहा कि मैं के सुधाकर राव से बात करूंगा और फिर देखते हैं कि क्या करना है.  आखिर मैंने कई दशक कांग्रेस में बिताये हैं.  वहीं, डीके शिवकुमार ने यहां तक कहा  कि पार्टी के लिए 40 साल तक काम करने के बाद साथ रहना चाहिए और साथ मरना भी चाहिए.  उन्होंने कहा कि हर परिवार में उतार-चढ़ाव होते हैं.  शिवकुमार ने कहा, हमें सब भूलकर आगे बढ़ना चाहिए.  मुझे खुशी है कि नागराज ने आश्वासन दिया है कि वह हमारे साथ रहेंगे.

advt

सूत्रों के अनुसार  सीएम कुमारस्वामी खुद चार कांग्रेसी विधायकों से बातचीत कर रहे हैं और उन्हें उम्मीद है कि वे अपना इस्तीफा वापस ले लेंगे.  ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं कि अगले हफ्ते बहुमत परीक्षण हो सकता है.  ऐसे में कांग्रेस और भाजपा दोनों ही अपने विधायकों को होटेल और रिजॉर्ट में शिफ्ट कर रही हैं.

 येदियुरप्पा ने कहा, वे सदन में शक्ति परीक्षण के लिए तैयार

    कर्नाटक में जारी राजनीतिक उठापटक के बीच भाजपा अध्यक्ष येदियुरप्पा ने कहा कि वे सदन में शक्ति परीक्षण के लिए तैयार है. येदियुरप्पा ने कहा कि अगर सरकार विश्वास प्रस्ताव लाना चाहती है तो उन्हें कोई आपत्ति नहीं है. कर्नाटक के पूर्व सीएम ने बताया कि वे सोमवार तक इंतजार करेंगे. उन्होंने कहा कि सोमवार को स्पीकर से मुलाकात कर सोमवार को ही विश्वास प्रस्ताव लाने को कहेंगे.बता दें कि कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी ने भी कहा है कि उनकी सरकार को कोई खतरा नहीं है वे विश्वास प्रस्ताव लायेंगे.  पूर्व सीएम येदियुरप्पा ने स्वीकार किया कि वे मुंबई में मौजूद कांग्रेस के बागी विधायकों से संपर्क में है, वे सभी खुश हैं. येदियुरप्पा ने कहा कि एचडी कुमारस्वामी को तुरंत इस्तीफा देना चाहिए और नई सरकार गठित होने देना चाहिए, लोग इस सरकार से उब चुके हैं.  

पांच और बागी विधायक सुप्रीम कोर्ट चले गये

इधर पांच और बागी विधायक सुप्रीम कोर्ट चले गये हैं. इन विधायकों ने कोर्ट से शिकायत की है कि स्पीकर के आर रमेश कुमार उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं कर रहे हैं. इन विधायकों के नाम हैं, के सुधाकर, रोशन बेग, एमटीबी नागराज, मुनिरत्न और रत्न सिंह. इन विधायकों का कहना है कि स्पीकर का रवैया उनके संवैधानिक और मौलिक अधिकारों का उल्लंघन है.

विधायकों ने अपनी याचिका में कहा है कि उन्हें सरकार का समर्थन करने को कहा जा रहा है अन्यथा उन्हें अयोग्य घोषित करने की धमकी दी जा रही है. रिपोर्ट के अनुसार इनमें से कुछ विधायक जब इस्तीफा देने गये थे तो उनके साथ धक्का-मुक्की गयी थी.

adv

कानूनी विशेषज्ञों के मुताबिक विधायिका का कोई भी चयनित जनप्रतिनिधि अपनी चेतना के आधार पर इस्तीफा दे सकता है ये उसका मौलिक अधिकार है. बता दें कि इन 5 विधायकों के अलावा 10 दूसरे बागी विधायकों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दी है और कहा है कि सर्वोच्च अदालत स्पीकर को उनका इस्तीफा स्वीकार करने के लिए निर्देश दे. इस मामले पर सुप्री कोर्ट ने मंगलवार तक यथास्थिति बरकरार रखी है. मंगलवार तक स्पीकर इन विधायकों को अयोग्य घोषित नहीं कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंः लोकसभा अध्यक्ष ने संसद परिसर में स्वच्छता अभियान चलाया, सांसदों ने झाड़ू लगायी

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button