JharkhandLead NewsRanchi

कांग्रेस चुनाव आयोग के पत्र को चुनौती दे या गलत आरोप पर मांगे माफी: दीपक प्रकाश

Ranchi : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद दीपक प्रकाश ने कांग्रेस और झामुमो पर जम कर हमला बोला. उन्होंने कहा कि जनजातीय समाज में भाजपा की बढ़ती लोकप्रियता से सत्ताधारी कांग्रेस-झामुमो के कलेजे पर सांप लोट रहा है. उनका कलेजा फटा जा रहा है. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी केंद्र की योजनाएं और जनजातीय समाज की पीड़ा को लगातार हल करने में जुटी है, इससे जनजातीय समाज में भाजपा का जनाधार बढ़ा है.

उन्होंने कहा कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में भी भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता सबसे ज्यादा चुनाव जीत कर आये. जिसमें जनजातीय समाज की संख्या सर्वाधिक है. उन्होंने कहा कि गांवों में भाजपा की लोकप्रियता बढ़ी है.

इसे भी पढ़ें – हाइकोर्ट ने मुख्य सचिव को दिया निर्देश- सीओ स्तर के अधिकारी कोर्ट में शपथपत्र दाखिल न करें

Catalyst IAS
SIP abacus

श्री प्रकाश ने धरती आबा बिरसा मुंडा विश्वास रैली को लेकर कांग्रेस द्वारा आचार संहिता उल्लंघन के लगाये गये आरोप पर कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और नेताओं को अचार संहिता उल्लंघन का आरोप लगाने से पूर्व पढ़ लेना चाहिए. उन्होंने कहा कि इलेक्शन कमिशन ने पत्र नंबर 437/6/1/ECI/INST/FUNCT/MCC/2017 DATED 18.01.2018 में मामले को स्पष्ट कर दिया है कि उपचुनाव की स्थिति में किसी भी नगर निकाय क्षेत्रवाले जिले में सिर्फ विधानसभा क्षेत्र में ही आचार संहिता लागू होती है. उन्होंने इलेक्शन कमीशन का कागज दिखाते हुए कहा कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष इस कागज को चुनौती दें या गलत आरोप लगाने पर माफी मांगें. उन्होंने कहा कि जेएमएम और कांग्रेस के नेता को जाने क्या हो गया है. उनके मुख्यमंत्री और मंत्री गलत फाइल पर साइन कर रहे हैं. इससे भ्रष्टाचार तेजी से बढ़ा है.

Sanjeevani
MDLM

श्री प्रकाश ने राज्य में आयुष्मान भारत योजना में व्याप्त भ्रष्टाचार पर कहा कि हेमंत सरकार ने आयुष्मान योजना को भ्रष्टाचार का चरागाह बना दिया है. लगातार भ्रष्टाचार के कई मामले सामने आ रहे हैं, बावजूद स्वास्थ्य विभाग और स्वास्थ्य मंत्री अब तक कार्रवाई नहीं की है. उन्होंने कहा कि इस घोटाले में स्वास्थ्य विभाग और स्वास्थ्य मंत्री पूरी तरह से शामिल हैं.

उन्होंने कहा कि झारखंड के पदाधिकारी अपने और अपने परिवार के नाम पर लीज ले रहे हैं. इन पदाधिकारियों के खिलाफ बोलने पर सत्ताधारी दलों के पेट में दर्द होता है. इससे स्पष्ट होता है कि सरकार इन घोटालों में भी लिप्त है.

प्रेस वार्ता में प्रदेश मीडिया प्रभारी शिवपूजन पाठक और प्रदेश सह मीडिया प्रभारी योगेंद्र प्रताप सिंह उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – बिहार में एक आईएएस अधिकारी  का तबादला, दो को अतिरिक्त प्रभार

Related Articles

Back to top button