न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कांग्रेस ने कहा, पारा शिक्षकों की मांग जायज, 19 को पार्टी करेगी धरना-प्रदर्शन

पारा शिक्षकों के बहाने कांग्रेस का सियासी दांव

66

Ranchi : राज्य स्थापना दिवस पर पारा शिक्षकों और मीडियाकर्मियों पर हुए लाठीचार्ज की कांग्रेस पार्टी ने कड़े शब्दों में निंदा की. कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम ने कहा कि भारत जैसे लोकत्रांतिक देश में हर व्यक्ति को शांतिपूर्ण तरीके से अपनी बातों को रखने का अधिकार है. राज्य के पारा शिक्षक अपने इसी अधिकार के तहत अपनी मांगों को पिछले कई वर्षों से रख रहे हैं. लेकिन उन पर लाठी चलवाना किसी भी तरीके से जायज नहीं है. राज्य की रघुवर दास सरकार तानाशाही पर उतर आयी है. वहीं मीडिया के लोगों पर हमला कर सरकार ने साबित कर दिया है, कि भाजपा के दिन अब समाप्ती की ओर है. उन्होंने कहा कि पारा शिक्षकों की मांगों को लेकर कांग्रेस पार्टी आगामी 19 नवंबर को राज्यव्यापी धरना-प्रदर्शन कर सरकार विरोधी कार्यों को जनता के सामने लाने का काम करेगी.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड में नवजात बच्चों की मृत्यु दर में आयी कमी, सालाना 17500 नवजात की होती है मृत्यु

सरकार बनी तो पारा के साथ पार्टी करेगी सकारात्मक वार्ता

आलमगीर आलम ने पार्टी मुख्यालय मे शानिवार को आयोजित एक प्रेस वार्ता में कहा कि पारा शिक्षकों की मांग लोकतंत्र में पूरी तरह से जायज है. लेकिन रघुवर सरकार नहीं चाह रही है कि उनकी मांगे पूरी हो. पारा शिक्षकों के सहारे सियासी दांव खेलते हुए कहा कि अगर 2019 विस चुनाव में कांग्रेस की सरकार बनती है तो पार्टी पारा शिक्षकों के साथ सकारात्मक वार्ता करेगी, ताकि पारा शिक्षक सम्मानजनक जिंदगी जी सके.

इसे भी पढ़ेंःन्यूज विंग ब्रेकिंग: झारखंड में फाइनांशियल क्राइसिस! ट्रेजरी में सिर्फ 200 करोड़, ठेकेदारों और…

silk_park

पारा शिक्षक गांव में जला रहे हैं शिक्षा की ज्योति

उन्होंने कहा कि राज्य में करीब 67000 पारा शिक्षक कार्यरत हैं,जो गांव में शिक्षा की ज्योति जलाने का काम कर रहे हैं. लेकिन आज तक इनकी मांगों को सरकार ने पूरा नहीं किया है. कुछ माह पहले इन पारा शिक्षकों से मुलाकात कर शिक्षा विभाग के आला अधिकारियों ने आश्वासन दिया था, कि अन्य अन्‍य राज्यों में पारा शिक्षकों की जानकारी के लिए एक कमेटी बनायी जाएगी. लेकिन अब तक सरकार ने ऐसा नहीं किया. ऐसा कर सरकार ने पारा शिक्षकों को धोखा देने का काम किया है.

इसे भी पढ़ेंःनगर निगम का सब्जी दुकानदारों पर चला डंडा, विरोध में किया रोड जाम

चौथा स्तंभ है मीडिया, भाजपा कर रही है दमन

मीडिया पर हुए दुर्व्यवहार की कड़ी निंदा करते हुए कांग्रेसी नेता आलमगीर आलम ने कहा कि सरकार आज यह भूल गयी है कि मीडिया देश का चौथा स्तंभ है. देश और दुनिया की सचाई को सामने लाने का काम मीडिया करती रही है. स्थापना दिवस पर मीडियाकर्मियों ने इन्हीं पारा शिक्षकों की मांगों की सच्चाई सामने लाने का काम किया था. इसके विपरीत रघुवर सरकार ने दमन की नीति का सहारा लेकर मीडियाकर्मियों से दुर्व्यवहार किया. कांग्रेस पार्टी इसकी निंदा करती है. सरकार मीडियाकर्मी व पारा शिक्षकों पर हुए दुर्व्यवहार पर माफी मांगे. साथ ही जेल भेजे गए पारा शिक्षकों को ससमान रिहा कर उनकी मांगों को पूरा करे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: