न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कांग्रेस का भाजपा पर पलटवार, कहा- इससे बदतर स्थिति क्या होगी कि सीएम और डीजीपी को पता ही नहीं चला कितने जवान हुए थे अगवा

240

Ranchi : झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमिटी के प्रवक्ता कुमार राजा ने खूंटी मामले में भाजपा के बयान पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा है कि राज्य के इतने संवेदनशील मुद्दे पर विपक्ष पर कटाक्ष करना समझ से परे है. भाजपा के प्रवक्ता के बयान से यही लगता है कि उनके सरकार के खुफिया तंत्र की तरह वह भी खूंटी में हो रही सारी गतिविधियों से अनभिज्ञ रहते हैं. इतनी बड़ी घटना के हो जाने के बाद आज तक ग्रामीणों के बीच मुख्यमंत्री नहीं पहुंचे. सच तो यह है कि सांसद कड़िया मुंडा के घर तक जाने की हिम्मत नहीं जुटा पाये मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा, जो उसी क्षेत्र के विधायक हैं. बस सांसद से मिलकर औपचारिकता पूरी कर ली.

इसे भी पढ़ें- भाजपा ने विपक्ष पर साधा निशाना, कहा- फादर के बचाव के लिए सीएस से मिलते हैं, जवानों के लिए खामोश क्यों 

हम संवेदनशील मुद्दों पर बयानबाजी नहीं करते

राजा ने पुलिस के जवानों की वापसी पर हर्ष व्यक्त करते हुए पुलिस के खुफिया विभाग की कार्यशैली पर सवाल उठाया है. कहा कि तीन दिनों के बाद जब जवान लौटे, तब सरकार को पता चला कि तीन नहीं, बल्कि चार जवानों का अपहरण हुआ था. इससे बदतर स्थिति क्या हो सकती है कि न तो राज्य के मुख्यमंत्री को सही जानकारी होती है, न राज्य के डीजीपी को कि हमारे जवान कहां हैं, किस स्थिति में हैं, कितने लोग अपहृत हुए हैं. पुलिस के अधिकारियों पर कार्रवाई करने की बजाय भाजपा प्रवक्ता हल्की बयानबाजी कर पुलिस की हुई किरकिरी पर पर्दा डालना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी राज्य के हर मुद्दे के प्रति संवेदनशील है. ऐसे समय में, जब राज्य विकट परिस्थितियों से गुजर रहा हो, हमने बेवजह की बयानबाजी न कर जनता के बीच संदेश दिया है कि हम आपके मुद्दे के प्रति चिंतित तो हैं ही, किंतु खूंटी में हो रही घटनाओं से आहत भी हैं. हम संवेदनशील मुद्दों पर बयानबाजी नहीं करते हैं.

इसे भी पढ़ें- खूंटी में अभी मिली है आंशिक सफलता, पूरी सफलता मिलनी बाकी- रघुवर दास

निर्दोष ग्रामीणों की पिटाई की जांच के लिए कांग्रेस ने बनायी है कमिटी 

कुमार राजा ने बताया कि खूंटी के कोचांग में युवतियों के साथ दुष्कर्म के बाद झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमिटी की तरफ से कालीचरण मुंडा, नियेल तिर्की, पीटर मुंडू की कमिटी बनायी गयी थी. उन्होंने ग्रामीणों से मिलकर उनकी बातों को सुनकर एक रिपोर्ट सौंपी है. पुलिस जवानों के अपहरण के बाद निर्दोष ग्रामीणों की पिटाई को लेकर झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष डॉ अजय कुमार के निर्देश पर एक जांच कमिटी बनायी गयी, जिसकी पहली बैठक गुरुवार को हुई थी. कमिटी में डॉ प्रदीप बलमुचू, रामेश्वर उरांव, कालीचरण मुंडा, नियेल तिर्की एवं रमा खालको को सदस्य बनाया गया है. जल्द ही वह अपनी रिपोर्ट प्रदेश कांग्रेस कमिटी को समर्पित करेंगे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: