न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कांग्रेस ने अपनी किताब में उठाया सावरकर व गोडसे के संबंध पर सवाल, छिड़ा विवाद 

836

Bhopal: अखिल भारतीय कांग्रेस सेवादल ने गुरुवार को भोपाल में आयोजित राष्ट्रीय प्रशिक्षण शिविर में ‘‘वीर सावरकर कितने ‘वीर’?’’ नाम से एक किताब वितरित की है.

इस किताब में सावरकर को लेकर जो बातें लिखी गयी हैं, उस पर अब विवाद खड़ा हो गया है. इस किताब में राजनीतिक हिंदूवादी विचारधारा के जनक कहे जाने वाले विनायक दामोदर सावरकर पर सवाल उठाया गया है. 

इसे भी पढ़ें- चुटिया हादसा: डेढ़-डेढ़ लाख लगायी गयी दोनों मृतकों की जान की कीमत

क्या है सावरकर पर आरोप

किताब में आरोप लगाया गया है कि सावरकर ने तत्कालीन ब्रिटिश हुकूमत से पैसे लिए थे. इस किताब में यह कहा गया है कि सावरकर ने 12 साल की उम्र में मस्जिद पर पत्थर फेंके और वहां की टाइल्स तोड़ी थी.

किताब में नाथूराम गोडसे और सावरकर के संबंधों को लेकर भी विवादित टिप्पणी की गयी है. किताब में यह कहा कहा है कि ब्रह्मचर्य धारण करने से पहले गोडसे के उनके राजनैतिक गुरु वीर सावरकर के साथ समलैंगिक संबंध थे. किताब में लिखा है कि अल्पसंख्यक महिलाओं से बलात्कार करने के लिए सावरकर लोगों को उकसाते थे.

इसे भी पढ़ें- 20 सालों से बंद केबुल कंपनी के जेनरल ऑफिस में बिना बिजली के चौथी बार लगी आग, जांच का विषय: सरयू राय

बीजेपी ने किया पलटवार

भाजपा ने इसकी कड़ी निंदा करते हुए कहा कि कांग्रेस मतिभ्रम की स्थिति में है, इसलिए राष्ट्रभक्तों का अपमान कर रही है. मध्य प्रदेश भाजपा अध्यक्ष एवं सांसद राकेश सिंह ने कांग्रेस सेवा दल के कार्यक्रम में सावरकर को लेकर बांटे गए साहित्य पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि कांग्रेस मतिभ्रम के दौर से गुजर रही है. वह समझ नहीं पा रही कि किसका विरोध करें और किसका समर्थन करें.

उन्होंने कहा कि इस दौर में कांग्रेस के नेता उन राष्ट्र भक्तों को निशाना बनाने से नहीं चूक रहे जो राष्ट्रभक्त विशेष रूप से बहुसंख्यक आबादी के हितचिंतक रहे हैं. 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like