न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कांग्रेस पार्टी एक सर्कस, राहुल गांधी उसके रिंग मास्टर और अजय कुमार एक जोकर : भाजपा

झारखंड आंदोलन के सौदेबाज पारा शिक्षकों का भला कैसे करेंगे ?

35

Ranchi: मुख्यमंत्री रघुवर दास का विकास देखकर कांग्रेस-झामुमो डर गया है और विकास बाधित करने के लिए पारा शिक्षकों को राजनीतिक मोहरा बना रहा है. ये कहना है भाजपा प्रदेश प्रवक्ता प्रवीण प्रभाकर का. बीजेपी ने कहा है कि स्थापना दिवस पर हंगामा करवा कर विपक्ष ने बिरसा मुंडा, राज्यपाल और जनता का अपमान किया है. पारा शिक्षक कांग्रेस-झामुमो की चाल को समझें और छात्रों के हित में अपना आंदोलन वापस लें.

इसे भी पढ़ें – सीबीआई प्रकरणः जानें देश के कौन-कौन सबसे प्रभावशाली लोगों की भूमिका है संदिग्ध

कांग्रेस पार्टी एक सर्कस

झारखंड आंदोलन की सौदेबाजी करने वाली कांग्रेस-झामुमो कभी भी राज्य और पारा शिक्षकों की हितैषी नहीं हो सकती. भाजपा के एक और प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने शाह ब्रदर्स खनन घोटाले को लेकर डॉ अजय कुमार के द्वारा एसीबी में मामला दर्ज कराने की घटना को हास्यास्पद बताया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी एक सर्कस है. राहुल गांधी उसके रिंग मास्टर हैं.और अजय कुमार एक जोकर की भूमिका में है. डॉ अजय कुमार भीड़ जुटाने के लिए तमाशे बाजी करते हैं. उल जुलूल हरकतें करते हैं. उन्होंने ने कहा कि शाह ब्रदर्स मामले में भाजपा और महाधिवक्ता ने बिंदु वार स्पष्टीकरण दे दिया है. लेकिन कांग्रेस को उससे कोई मतलब नहीं है. उसे तो सिर्फ ड्रामेबाजी करनी है.

इसे भी पढ़ेंःबकोरिया कांड : सीबीआई ने दर्ज की प्राथमिकी, स्पेशल क्राईम ब्रांच-दिल्ली करेगी जांच

विपक्ष सत्ता में था तो उसने पारा शिक्षकों की कोई सुध नहीं ली

प्रभाकर ने कहा कि पारा शिक्षकों को यह नहीं भूलना चाहिए कि जब विपक्ष सत्ता में था तो उसने पारा शिक्षकों की कोई सुध नहीं ली. जबकि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने पारा शिक्षकों के हित के लिए कई निर्णय लिए हैं, जिनमें सेवानिवृत्ति की उम्र 60 वर्ष करना, 50% आरक्षण, मातृत्व अवकाश, आकस्मिक अवकाश, सामान्य अवकाश आदि का प्रावधान करना, उनके वेतनमान में वृद्धि करना. आज भी झारखंड सरकार पारा शिक्षकों की जायज मांगों के प्रति गंभीर है और कई मांगों को पूरा भी किया जा चुका है. लेकिन जो मांग संवैधानिक रूप से उचित नहीं है, उन पर विचार करना संभव नहीं है. हिंसा के रास्ते पर चलकर समाधान नहीं मिल सकता.

इसे भी पढ़ें – बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा ने अदालत में आत्मसमर्पण किया

चुनाव करीब देखकर विपक्ष रोज नया-नया हथकंडा अपनाना रहा

प्रभाकर ने कहा कि रघुवर दास के नेतृत्व में झारखंड तेजी से विकास के पायदान पर ऊपर जा रहा है और नीति आयोग ने भी विकास वृद्धि दर में पूरे देश में झारखंड को दूसरे स्थान पर रखा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी कई मौकों पर झारखंड की प्रशंसा कर चुके हैं. वर्ल्ड बैंक ने इज ऑफ डूइंग बिजनेस में झारखंड को टॉप रैंकिंग पर रखा है. राज्य के विकास की गति को देखकर झामुमो और कांग्रेस चिंतित हो चुके हैं, क्योंकि उनकी राजनीतिक जमीन खत्म हो रही है. इसलिए चुनाव करीब देखकर विपक्ष ने रोज नया नया हथकंडा अपनाना शुरू कर दिया है ताकि राज्य के विकास को बाधित किया जा सके और विकास से जनता का ध्यान भटकाया जा सके.

प्रभाकर ने कहा की जब-जब झारखंड बनने का अवसर आया तो कांग्रेस-झामुमो ने सौदेबाजी कर राज्य का गठन नहीं होने दिया. तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने अलग झारखंड राज्य दिया. उनकी प्रेरणा का अनुसरण कर भाजपा राज्य के विकास में लगी है. राज्य के हित से कोई समझौता नहीं किया जाएगा.

इसे भी पढ़ेंःशाह ब्रदर्स खनन घोटालाः AG,DMO,विभागीय मंत्री पर प्राथमिकी दर्ज करने की मांग को लेकर ACB पहुंची…

राजनीतिक दल अपने फायदे के लिए पारा शिक्षकों का कर रहे उपयोग

छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने वाले किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा. शाहदेव ने कहा की राजनीतिक दल सिर्फ अपने फायदे के लिए पारा शिक्षकों का उपयोग कर रहे हैं. जबकि उन्होंने अपने कार्यकाल में उनके हित की सुध नहीं ली. सिर्फ भाजपा की सरकार ने समय-समय पर उनके मानदेय और सर्विस कंडिशन में सुधार किया. शाहदेव ने कहा 15 नवंबर के दिन हुआ प्रदर्शन भगवान बिरसा मुंडा का अपमान है और विपक्ष ने भी इस अपमान में अपनी सहभागिता दिखाकर भगवान बिरसा मुंडा के प्रति अपनी सोच को जगजाहिर कर दिया है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: