न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अमित शाह की बीमारी पर कांग्रेस सांसद के विवादित बोल, कहा- सूअर का जुकाम हुआ

1,411

New Delhi: बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह इनदिनों स्वाइन फ्लू से पीड़ित हैं और एम्स में भर्ती है. शाह की बीमारी को लेकर सांसद और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बीके हरि प्रसाद ने विवादित बयान दिया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक राज्यसभा में उपसभापति का चुनाव लड़ चुके हरिप्रसाद ने कहा, ‘शाह को सुअर का जुकाम हुआ है. उन्हें कर्नाटक का श्राप लगा है.’ इसके बाद उन्होंने एक और बयान जारी करते हुए यह भी कहा कि उन्हें अपने कहे पर कोई अफसोस नहीं है.

क्या कहा हरिप्रसाद ने

कर्नाटक संकट पर बात करते हुए हरिप्रसाद ने कहा कि हमारे कुछ विधायक वापस लौट आए हैं. इससे अमित शाह डर गए और उनको बुखार हो गया. उन्होंने कहा, ‘कर्नाटक में और हाथ लगाने से उसकी (अमित शाह) तबीयत और खराब हो जाएगी. कर्नाटक की सरकार छूने से उसे लोगों का श्राप लगेगा. हमारे अध्यक्ष के बारे में भी गलत बोलते हैं.’ हरिप्रसाद ने कहा कि उनको कोई आम बुखार नहीं हुआ है. उनको स्वाइन फ्लू (Pig Fever) हुआ है. अगर वह कर्नाटक में सरकार को गिराने की कोशिश करेंगे तो उनको सिर्फ स्वाइन फ्लू नहीं बल्कि उल्टी और लूज मोशन भी होगा.

बीजेपी का पलटवार

कांग्रेस के वरिष्ठ सांसद के इस तरह की बयानबाजी पर बीजेपी भड़क गई. केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने हरिप्रसाद पर पलटवार करते हुए कहा कि जिस तरह का गंदा और बेहूदा बयान कांग्रेस के सांसद बीके हरिप्रसाद ने अमित शाह के स्वास्थ्य के लिए दिया है, यह कांग्रेस के स्तर को दर्शाता है. शाह फ्लू का उपचार करा रहे हैं, लेकिन कांग्रेस के नेताओं की मानसिक बीमारी का उपचार मुश्किल है. वहीं केंद्रीय राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि इस तरह के बयान कांग्रेस नेतृत्व की हताशा को दर्शाता है.

कांग्रेस की सफाई

बयान पर होती किरकिरी के बीच कांग्रेस की ओर से प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने सफाई दी है. उन्होंने राहुल गांधी के ट्वीट का हवाला देते हुए कहा कि पार्टी की राय साफ है. हम, हमारे किसी भी विरोधी नेता की अच्छी सेहत की हम कामना करते हैं. मुझे नहीं लगता इसके बारे में पार्टी अध्यक्ष के बयान के बाद कोई सवाल रह जाता है.

ज्ञात हो कि केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के स्वास्थ्य को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया. और जेटली के जल्द स्वस्थ होने की कामना की.

इसे भी पढ़ेंः वन पट्टा बांटने के मामले में झारखंड पीछेः छत्तीसगढ़ ने बांटे 07 लाख पट्टे, झारखंड ने बांटे सिर्फ 25 हजार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: