न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

कांग्रेस नेता का बयानः जम्मू में बनी सरकार तो आतंक के नाम पर मारे गए लोगों के परिजन को देंगे एक करोड़

1,501

Shrinagar: जम्मू-कश्मीर में कांग्रेस के नेता हाजी सगीर सईद के एक बयान से विवाद खड़ा हो गया है. दरअसल, अल्पसंख्यक विभाग के पर्यवेक्षक बनाकर भेजे गए हाजी सगीर सईद खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि कश्मीर में भाजपा लोगों पर जुल्म ढा रही है. साथ ही कहा कि कांग्रेस की सरकार आने पर यहां मारे लोगों को एक-एक करोड़ रूपये मुआवजे और परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की बात कही. इस बयान के बाद कांग्रेस नेता हाजी सगीर की निंदा हो रही है. वही कांग्रेस पार्टी ने इस बयान से खुद को किनारा करते हुए इसे हाजी सईद के निजी विचार बताया है.

eidbanner

आतंकवाद के मामले में जेल में बंद लोग होंगे रिहा !

बता दें कि एक प्रेस वार्ता के दौरान हाजी सगीर सईद खान ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष नदीम जावेद ने उन्हें जम्मू भेजा है. कांग्रेस नेता हाजी सगीर सईद खान ने कहा, ”कश्मीर जो जन्नत कहलाता था आज चारों तरफ लाशों से पटा पड़ा है. बीजेपी जिस तरह से यहां के लोगों पर जुल्म ढा रही है, यहां जो निर्दोष लोग मारे गए हैं, उन सभी को कांग्रेस की सरकार आने के बाद एक-एक करोड़ रुपये का मुआवजा और परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी जाएगी. ऐसे ही वैसे लोग जो आतंकवाद के नाम पर जेल में बंद हैं उन्हें रिहा किया जाएगा. बीजेपी के जिन लोगों ने यहां कत्लेआम मचाया है, वह चाहे कितने ही बड़े नेता ही क्यों न हों, कानून बनाकर उन्हें फांसी के फंदे पर लेकर जाया जाएगा.’

हाजी सगीर बोलेने के दौरान यहीं नहीं रुके उन्होंने बुलंदशहर हिंसा में मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या का जिम्मेवार जीतू नाम के फौजी को ठहराया. साथ ही कहा कि फौजी आरएसएस की विचारधारा से प्रेरित था. सेना सरकार का आदेश मानती है. उन्हें जैसा कहा जा रहा है, वह वैसा ही कर रही है.

mi banner add

बीजेपी ने राहुल से मांगी सफाई

हाजी सगीर के बयान के बाद सियासत गरम है. बीजेपी ने बयान पर पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी से सफाई मांगी है. केंद्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह ने कांग्रेस नेता की इस टिप्पणी पर आपत्ति जताते हुए ट्वीट में लिखा, ‘क्या राहुल गांधी यह स्पष्ट करेंगे कि यह कांग्रेस का आधिकारिक स्टैंड है? कि हिरासत में लिए गए आतंकवादियों को छोड़ा जाएगा, हर आतंकवादी को 1 करोड़ रुपये मुआवजा दिया जाएगा और कानून में संशोधन कर बीजेपी नेताओं को मौत की सजा सुनाई जाएगी.’ इधर बयान से हो रही फजीहत के बाद इस मामले में सफाई देते हुए जम्मू-कश्मीर प्रदेश प्रवक्ता रविंदर शर्मा ने स्थानीय रिपोर्टर से कहा कि यह उनका अपना विचार है. पार्टी इस बयान का समर्थन नहीं करती.

इसे भी पढ़ेंः झारखंड में ह्यूमन ट्रैफिकिंग को रोकने के लिए कूलियों, ऑटो और रिक्शा चालकों की ली जायेगी मदद

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: