Jharkhand Vidhansabha Election

कांग्रेस के नेताओं को भ्रष्टाचार पर सवाल करने का अधिकार ही नहीं: भाजपा

Ranchi: भाजपा के झारखंड विधानसभा के चुनाव सह प्रभारी नंदकिशोर यादव ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस के नेताओं ने जमीन, आसमान और पाताल में भी घोटाले किये हैं, जिसका सबक जनता भी उन्हें सिखा चुकी है.

उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार पर सवाल करने का अधिकार कांग्रेस के नेताओं को है ही नहीं. गठबंधन हताश और निराश है, उन्होंने भाजपा और हमारे नेताओं पर तथ्यहीन और आधारहीन आरोप लगाये हैं.

नंदकिशोर यादव ने शनिवार को पहले चरण की सभी 13 सीटों पर विरोधियों का सूपड़ा साफ करने की बात कही. इसके अलावा उन्होंने कहा कि भाजपा स्पष्ट बहुमत की ओर है.

इसे भी पढ़ें – सभी पार्टियों के घोषणापत्र में क्या-क्या है समान, किन खास मुद्दों को दिया है अलग से स्थान, पढ़िये रिपोर्ट

92 प्रतिशत वायदे को पूरा किया

नंदकिशोर यादव ने अपने चुनावी घोषणापत्र पर बात करते हुए कहा कि भाजपा ने पिछले चुनाव के अपने वादों में से 92 प्रतिशत वादों को पूरा किया है. लोक नीति शोध केंद्र ने अपने सर्वे में इसे कहा है.

नंदकिशोर यादव ने कहा कि कहो वही जो कर सको भाजपा ने अपने इस बार के चुनावी वादों में भी कोई लोक लुभावन वादे नहीं किये हैं. इस बार के वादों को भी सरकार शत प्रतिशत पूरा करने की कोशिश करेगी.

उन्होंने कहा कि वैसे पार्टियां जो सिर्फ चार पांच सीटों पर चुनाव लड़ रही हैं वो भी ऐसे-ऐसे वादे कर रही हैं जैसे वही पार्टी सरकार चलायेगी.

इसे भी पढ़ें- फडणवीस और भाजपा उतावलेपन में सब गंवा बैठे

गठबंधन की सरकार आखिर किस घोषणापत्र के आधार पर सरकार चलायेगी

राज्य के गठबंधन के सभी पार्टियों ने अलग अलग घोषणापत्र जारी किया है. अगर सरकार बनी तो वे किस घोषणापत्र के आधार पर सरकार चलायेंगे.

नंदकिशोर यादव ने कहा कि गठबंधन की स्थिति चोर मचाये शोर के कहावत को चरितार्थ करती है. साथ ही उन्होंने गठबंधन के नक्सलवाद की समस्या के प्रति दृष्टिकोण को स्पष्ट करने की मांग की है.

सरयू राय ने स्वयं कहा कि वे पार्टी में नहीं हैं

सरयू राय के बारे में यह पूछने पर कि क्या सरयू राय पार्टी में अब भी हैं, इस पर उन्होंने कहा कि कमल फूल निशान के खिलाफ चुनावी मैदान में हैं, वो पार्टी में कैसे हो सकते हैं. इस पर जब पूछा गया कि पार्टी की तरफ से कोई अनुशासनात्मक कार्रवाई नहीं कि गयी. तो उन्होंने जवाब दिया कि सरयू राय ने स्वयं पार्टी छोड़ दी है, उन्होंने स्वयं कहा कि उन्हें पार्टी के टिकट की जरूरत नहीं है.

इसे भी पढ़ें – फडणवीस और भाजपा उतावलेपन में सब गंवा बैठे

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: