न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कांग्रेस नेता वैभव सिंह पर चली गोली, 5 अपराधी हिरासत में, पिस्टल बरामद

कोयलांचल में इन दिनों खूनी खेल थमता नज़र नही आ रहा है.

976
वैभव सिंह
mi banner add

Dhanbad : कोयलांचल में इन दिनों खूनी खेल थमता नज़र नही आ रहा है. गुरुवार को एक बार फिर अपराधियों ने धनबाद की धरती पर लाल खून का खेल खेल कर पुलिस को चुनोती देते हुए कांग्रेस नेता पर गोली चलाई. जेवीएम नेता रंजीत सिंह की हत्या की गुत्थी अभी सुलझी  भी नहीं थी कि धनबाद कांग्रेस अध्यक्ष वैभव सिन्हा पर अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी. घटना सदर थाना क्षेत्र के धैया की है; हालांकि  फायरिंग में एक भी गोली वैभव सिन्हा को नहीं लगी और वह बाल बाल बच गये. घटना के बाद वैभव के समर्थकों ने अपराधियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा और बंधक बना लिया. उनके वाहन को भी चकनाचूर कर दिया.

घटना स्थल पर पहुंची सदर थाने की पुलिस ने अपराधियों के पास से एक पिस्टल के अलावा एक खोखा भी बरामद किया है.  पुलिस ने अपराधियों को अपने कब्जे में ले लिया है और धनबाद सदर थाने में उनसे पूछताछ की जा रही है.

इसे भी पढ़ेंःगिरिडीह लोकसभाः 2500 परिवारों से रोजगार छिन गया, मजदूरों के साथ भी हुआ अन्याय, पार्टी कार्यकर्ता भी हुए नाराज

हंगामा सुनकर वैभव सिन्हा रेस्तरां पहुंचे तो युवकों ने फायरिंग शुरू कर दी

Related Posts

कोल्हान के बाद पलामू में नक्सलियों की सक्रियता बढ़ी, वाहन जला पुलिस को दे रहे खुली चुनौती

विकास कार्यों में लगे वाहनों को निशाना बना रहे नक्सली संगठन, लेवी के लिए खौफ पैदा करना चाहते हैं

वैभव के बॉडीगार्ड विकास दुबे के अनुसार कुछ लड़के उनके रेस्तरां टेस्ट ऑफ एशिया में खाना खाने के बहाने आये थे और उन्होंने प्रतिबंधित मांस की मांग की.  प्रतिबंधित मांस देने से इनकार करने पर गाली गलौज और मारपीट शुरू कर दी.  हंगामा सुनकर वैभव सिन्हा रेस्तरां पहुंचे  तो युवकों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. हालांकि अपराधियों की एक भी गोली वैभव सिन्हा को नहीं लगी.  वैभव के समर्थकों ने सभी युवकों को पकड़ लिया और उनकी पिटाई कर धनबाद थाने को सूचना दी. अपराधियों के वाहन को भी उनके समर्थकों के द्वारा क्षति पहुंचाई गयी.  पुलिस बहरहाल पूरे मामले को लेकर जांच में जुट गयी है. अभी कुछ भी कहने से बच रही है.

जिन लड़कों को पुलिस ने हिरासत में लिया है, उनमें से एक युवक का भाई घटनास्थल पर पहुंचा  और उसने वैभव सिन्हा पर अपने भाई को किडनैप कर  ₹500000 फिरौती मांगने का आरोप लगा दिया. हालांकि घटना की जानकारी अब तक थाने में लिखित रूप से नही दी गयी है.

इसे भी पढ़ेंः झारखंड के गांव-गांव की आम कहावत “मनरेगा में जो काम करेगा वो मरेगा”

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: