National

#Congress नेता संजय निरुपम के गंभीर आरोप- ‘सोनिया से जुड़े लोग राहुल गांधी के खिलाफ कर रहे साजिश’

Mumbai: महाराष्ट्र चुनाव से पहले कांग्रेस के लिए परेशानी बढ़ गयी है. पार्टी के लिए प्रचार नहीं करने का ऐलान कर चुके संजय निरुपम के तेवर बागी दिख रहे हैं.

शुक्रवार को उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पार्टी को लेकर कई गंभीर बातें कही. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में अपनी पसंद के उम्मीदवारों को टिकट नहीं दिए जाने से नाराज संजय निरुपम ने कांग्रेस आलाकमान पर जमकर हमला बोला.

इसे भी पढ़ेंःदिवाली से पहले #RBI का तोहफा, लगातार पांचवीं बार घटाई रेपो रेट, कम होगी EMI

‘सोनिया गांधी से जुड़े लोग कर रहे साजिश’

मीडिया से बात करते हुए संजय निरुपम ने कहा कि दिल्ली में बैठे लोगों में समझ की कमी है. पार्टी में योग्य लोगों के साथ न्याय नहीं हो रहा. साथ ही कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ जुड़े लोग साजिश रच रहे हैं.

निरुपम ने आरोप लगाया कि राहुल गांधी से जुड़े लोगों को पार्टी में साइड लाइन किया जा रहा है. अगर सब ऐसा ही चलता रहा तो वो लंबे समय तक कांग्रेस में नहीं रह पाएंगे.

‘कांग्रेस उम्मीदवारों की जब्त होगी जमानत’

कांग्रेस में फीडबैक सिस्टम खत्म होने की बात करते हुए निरूपम ने कहा कि सही प्रत्याशियों को टिकट नहीं दिया गया है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने वर्सोवा सीट से अपने उम्मीदवार को टिकट नहीं दिए जाने पर भी उन्होंने सवाल उठाए.

और दावा किया कि कुछ सीटों को छोड़ दें तो कांग्रेस उम्मीदवारों की जमानत जब्त होगी. बता दें कि संजय निरुपम ने पहले ही विधानसभा चुनाव में पार्टी के लिए प्रचार नहीं करने की बात कही है.

इसे भी पढ़ेंःNewsWing Impact: #JPSC ने पहले रद्द किया असिस्टेंट इंजीनियर का विज्ञापन, फिर 637 पदों के साथ निकाली नियुक्ति

‘…तो छोड़ दूंगा पार्टी’

उन्होंने कांग्रेस के महाराष्ट्र प्रभारी मल्लिकार्जुन खड्गे पर भी जमकर निशाना साधा. निरूपम ने कहा कि खड्गे ने हमारे उम्मीदवारों से बात नहीं की. निरुपम ने पार्टी आलाकमान पर मुस्लिम समुदाय को दरकिनार करने के भी आरोप लगाये.

पार्टी छोड़ने के सवाल पर वरिष्ठ नेता ने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि पार्टी छोड़ने की जरूरत है. साथ ही ये भी कहा कि लेकिन पार्टी के भीतर ऐसा ही चलता रहा तो मुझे नहीं लगता की मैं पार्टी के साथ लंबे समय तक रह पाऊंगा.

अपना दर्द बयां करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा, ‘मुझे पार्टी में साइडलाइन करने की कोशिश की गई. और मेरे अंदर जो बर्दाश्त करने की क्षमता है, यदि वह पार कर गई तो मुझे इस बारे में निर्णय लेना पड़ सकता है.’ हालांकि, उन्होंने कहा कि फिलहाल इस स्थिति को और झेला जा सकता है.

गौरतलब है कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन की आखिरी तारीख चार अक्टूबर यानी आज है. वहीं 21 अक्टूबर को 288 सीट वाली विधानसभा के लिए मतदान होना है.

इसे भी पढ़ेंःरांची: पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, दो जवान शहीद

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: