न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने मॉब लिंचिंग को लेकर कहा,  छोटे शहरों और गांवों में डर का माहौल

छोटे शहरों और दिल्ली के गांवों में भी लोग भय के माहौल में रह रहे हैं. देश के हर व्यक्ति की यह जिम्मेदारी है कि वह इस डर को खत्म करने में सहयोग करे.

30

NewDelhi : छोटे शहरों और दिल्ली के गांवों में भी लोग भय के माहौल में रह रहे हैं. देश के हर व्यक्ति की यह जिम्मेदारी है कि वह इस डर को खत्म करने में सहयोग करे. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने  यह बात कही है. देश में मॉब लिंचिंग की बढ़ रही घटनाओं पर चिंता व्यक्त करते हुए  और इन घटनाओं पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस प्रवक्ता खुर्शीद ने कहा कि  मैं सोचता हूं कि दिल्ली के इलाकों जहां हम रह रहे हैं या काम करते हैं, डर का माहौल है. छोटे शहरों और गांवों में भी लोग डर के माहौल में रह रहे हैं. यह हर भारतीय की जिम्मेदारी है कि वह इस डर को खत्म करे. उन्होंने यह भी कहा कि इन घटनाओं के पीछे षड्यंत्र के साथ ही संर्कीण सोच काम करती है.

खुर्शीद के अनुसार कैसे एक सोच कई लोगों के दिमाग में रोप दिया जाता है और यदि कोई इसके पीछे मास्टरमाइंड है तो इस पर गहराई से विचार किये जाने की जरूरत है.  जाव लें कि  पिछले कुछ समय से देश में मॉब लिंचिंग, भीड़ हिंसा की घटनाओं में बढ़ोतरी देखने को मिली है.  हाल ही में खबर आयी थी कि झारखंड में लोगों ने एक मुस्लिम युवक तबरेज को चोरी के आरोप में बुरी तरह से पीट दिया. बाद में पुलिस हिरासत में उसकी तबीयत बिगड़ने के बाद इलाज के क्रम में  अस्पताल में उसकी मौत हो गयी थी.

Trade Friends

इसे भी पढ़ेंःदुनिया की कोई ताकत अयोध्या में नहीं बनवा सकती मस्जिद: डॉ. वेदांती

Related Posts

#Mexico ने अवैध रूप से अमेरिका में घुसने की कोशिश कर रहे 311 भारतीयों को दिल्ली भेजा

भारतीयों ने अमेरिका में प्रवेश के लिए एजेंट्स को दिये थे 30 -30 लाख  

WH MART 1

झारखंड की घटना की राहुल गांधी ने निंदा की थी

तबरेज के परिजनों ने पुलिस पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया था.  लोगों का कहना था कि यदि पुलिस सही समय पर घटनास्थल पर पहुंच जाती तो तबरेज की जान बच सकती थी.  खबर थी कि तबरेज अंसारी को घंटों तक पोल से बांध कर पीटा गया.  उसे कथित रूप से जय श्री रा का नारा लगाने पर भी विवश किया गया.  इस घटना के बाद देशभर में काफी तीखी आलोचना हुई थी. इससे पहले साल 2015 में दादरी में 55 वर्षीय मोहम्मद इखलाक की घटना भी लोगों को आज भी याद है.  इसमें गोतस्करी के शक में भीड़ ने अखलाक को पीट-पीट कर मार डाला था. झारखंड की घटना की कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी निंदा करते हुए भाजपा शासित केंद्र और राज्य सरकारों की की चुप्पी पर भी सवाल खड़े किये थे.

इसे भी पढ़ेंःदेश के कई हिस्सों में बारिश का कहरः यूपी में 15 लोगों की मौत, असम में बाढ से 8.5 लाख लोग प्रभावित 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like