Crime NewsJharkhandPalamu

पलामू: कांग्रेस नेता गुड्डू खान हत्याकांड का मुख्य आरोपी 5 माह बाद धराया

Palamu: मेदिनीनगर शहर के जेलहाता निवासी और कांग्रेस नेता राशिद अहमद सिद्दीकी उर्फ गुड्डू खान हत्याकांड में शामिल मुख्य आरोपी अली कुरैशी को गिरफ्तार कर लिया गया है.

 

अली कुरैशी पांच माह से फरार चल रहा था. पिछले कई दिनों से जिले के पाटन थाना क्षेत्र के सहदेवा स्थित ससुराल में छिप कर रहा था. अली कुरैशी ने गुड्डू खान हत्याकांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है.

जमीन के कारोबार में लेन देने को लेकर हुई थी हत्या

 

एसडीपीओ सदर संदीप गुप्ता ने बताया कि मृतक गुड्डू खान और अली कुरैशी दोनों जमीन कारोबार से जुड़े थे. गत 24 जनवरी 2020 को गुड्डू खान हत्याकांड में गिरफ्तार पाटन के कांकेकला निवासी अमित कुमार ने बताया था कि गुड्डू खान के साथ मिंटू रंगसाज, साबिर के साथ मिलकर जमीन का कारोबार करते थे.

 

ये भी पढ़ें- LG ने पलटा AK का फैसला, अब दिल्ली में होगा सबका इलाज

 

मेदिनीनगर के मुस्लिमनगर में डॉ राहत निजाम अस्पताल रोड में एक जमीन को लेकर दोनों के बीच विवाद बढ़ गया था. अली कुरैशी उस जमीन पर अपना दावा करता था. तीन-चार बार मारपीट होने के बाद गुड्डू खान ने अली के मर्डर का प्लान बनाया था.

 

इसकी जानकारी अली कुरैशी को हो गई थी. गुड्डू खान के साथी मिंटू रंगसाज व साबिर जो पहले से ही पैसे के लेन-देन के कारण गुड्डू खान से नाखुश चल रहे थे. उन्होंने अली कुरैशी को बता दिया कि गुड्डू खान उसका मर्डर करना चाहता है. इसके बाद अली कुरैशी ने गुड्डू के मर्डर का प्लान तैयार किया.

 

ये भी पढ़ें- Bjp ने कांग्रेस से मांगा ट्रेन किराया का हिसाब, कहा- वर्चुअल रैली और जनसंपर्क अभियान से हताश हुए विपक्षी

 

गुड्डू खान के साथी मिंटू रंगसाज और साबिर को कारोबार में ज्यादा हिस्सेदारी का लालच देकर अपने साथ मिला लिया. प्लान के तहत गत 20 जनवरी 2020 की संख्या में गुड्डू खान के घर बकाया पैसा के लिए उसके साथी गए. गुड्डू जब बाहर निकलकर बात कर रहा था, तभी उसे गोली मार दी गई.

 

फुफेरे भाई की हत्या में काट चुका है आजीवन कारावास

अली कुरैशी ने 2002 में अपने फुफेरे भाई बबलू कुरैशी की हत्या की थी, जिसमें आजीवन कारावास की सजा काटकर 2019 में ही जेल से निकला था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button