न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कांग्रेस को कोलेबिरा का ताज, बीजेपी-जेएमएम के उम्मीदवार धराशायी

3,559

Simdega: कांग्रेस के नमन विक्सल कोंगाड़ी को कोलेबिरा की जनता ने आनेवाले एक साल के लिए अपना विधायक चुना है. विक्सल कोंगाड़ी ने बीजेपी के बसंत सोरेंग को मात दी है. उन्हें कुल 40,343 वोट मिले जबकि भाजपा प्रत्याशी को 30,685 मत मिले. उन्होंने 9,658 मतों से जीत दर्ज की. वहीं राष्ट्रीय सेंगल पार्टी के उम्मीदवार तीसरे नबंर रहे. उन्हें 23,799 मत मिले. जबकि पूर्व विधायक और जेएमएम समर्थन प्राप्त मेनन एक्का को वहां की जनता ने नकारते हुए चौथे नबंर पर जगह दी है. उन्हें 16,445 वोट मिले. मेनन एक्का को राजद का भी समर्थन मिला था. जबकि कांग्रेस प्रत्याशी कोंगाड़ी को जेवीएम ने समर्थन दिया था. बता दें कि कोलेबिरा विस उपचुनाव में पांच प्रत्याशी मैदान में थे.

कांग्रेस ने शुरुआत से बनायी बढ़त

कांग्रेस के नमन विक्सल कोंगाड़ी ने शुरुआत से ही बढ़त बना ली थी. पहले ही राउंड में वो बीजेपी के बंसत से 600 वोटों से आगे थे. ये अंतर हर राउंड की गिनती के साथ बढ़ता ही गया. 18वां राउंड तक आते-आते कांग्रेस के कोंगाड़ी 9,500 मतों से आगे हो चुके थे. वहीं करीब 3694 वोट नोटा पर भी पड़े.

जीत का जश्न

कोलेबिरा में मिली इस जीत से कांग्रेस काफी उत्साहित है. कार्यकर्ताओं में जीत की खुशी साफ देखी गई. जीत का जश्न फाइनल रिजल्ट आने से पहले ही शुरू हो चुका था. रांची स्थित कांग्रेस पार्टी ऑफिस में भी जश्न मनाया गया. जहां कार्यकर्ताओं ने आतिशबाजी की और एक-दूसरे को जीत की बधाई दी. पार्टी नेताओं-कार्यकर्ताओं ने इसे आनेवाले राजनीतिक बदलाव का संकेत बताया है.

बीजेपी-जेएमएम धराशायी

झापा की उम्मीदवार मेनन एक्का को समर्थन देने में जेएमएम ने कोई कसर नहीं छोड़ी थी. प्रचार के आखिरी दिन नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन ने खुद वहां रोड शो कर मेनन के पक्ष में वोट की अपील की थी. वहीं बीजेपी के लिए चिंता की बात इसलिए है, क्योंकि अबतक हुए उपचुनावों में पार्टी को हार का मुंह देखना पड़ा है. जाहिर है, पार्टी में इस बात को लेकर मंथन जरूरी होगा.

इसे भी पढ़ें – राजधानी में 155 संवेदनशील जगहों पर लगाये जा रहे हैं सीसीटीवी कैमरे

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: