Lead NewsNational

पांच राज्यों में आसन्न विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस ने कसी कमर

सोनिया गांधी ने महासचिव, प्रदेश अध्यक्षों और राज्य प्रभारियों के साथ की बैठक, दिये कई टास्क

New Delhi : पांच राज्यों में आसन्न विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस पार्टी ने कमर कस ली है. इसको लेकर मंगलवार को कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय में कांग्रेस महासचिवों, राज्य प्रभारियों और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षों के साथ बैठक की. बैठक में सोनिया गांधी ने पार्टी संबंधित कई बाद कही. चुनावों को लेकर भी चर्चा की. इस दौरान भारत की सबसे पुरानी पार्टी ने देश की सबसे बड़ी पार्टी बीजेपी पर जम कर निशाना साधा. सोनिया गाँधी ने बैठक में अनुशासन बनाये रखने पर जोर दिया साथ ही संगठनिक मजबूती पर भी चर्चा की.

इसे भी पढ़ें : भाजपा जिला मीडिया प्रभारी संजय मिश्रा अंतराष्ट्रीय महिला खिलाड़ी से यौन शोषण में गिरफ्तार, भेजा जेल

advt

भाजपा-आरएसएस के झूठ का करें पर्दाफाश

सोनिया गांधी ने कहा कि हमें बीजेपी और आरएसएस से लड़ना है. उन्होंने कहा कि वैचारिक रूप से भाजपा और आरएसएस के शैतानी अभियानों के खिलाफ आवाज उठानी है. उन्होंने पार्टी नेताओं का मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि, अगर हमें यह लड़ाई जीतनी है तो हमें दृढ़ विश्वास के साथ ऐसा करना चाहिए. सोनिया गांधी ने कहा कि हमें बीजेपी और उसके झूठ का लोगों के सामने पर्दाफाश करना चाहिए. सोनिया गांधी ने बैठक में अनुशासन और एकता बनाये रखने पर भी जोर दिया. उन्होंने कहा कि संगठन को मजबूत करने की भावना निजी महत्वाकांक्षाओं से ऊपर होनी चाहिए. कहा कि, लोकतंत्र और संविधान की रक्षा के लिए लड़ाई कार्यकर्ताओं को मिथ्या प्रचार की पहचान करने और उससे मुकाबले के लिए तैयार रहने की जरूरत है.

इसे भी पढ़ें : शिक्षक ने पुलिस के दबाव में आकर प्रेमिका से की शादी, कुछ दिन बाद घर से निकाला, कर ली दूसरी शादी

ग्रास रूट कार्यकर्ताओं तक पार्टी का संदेश पहुंचना जरूरी

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बैठक में कहा कि देश के कई अहम मुद्दों पर पार्टी हर दिन बयान जारी करती है लेकिन वो संदेश ग्रास रूट लेवल पर काम कर रहे कार्यकर्ताओं तक नहीं पहुंच पाते. ऐसे में सोनिया गांधी ने नेताओं को नसीहत देते हुए कहा कि जमीनी कार्यकर्ताओं पार्टी का संदेश पहुंचाना बहुत जरूरी है. वहीं, सोनिया ने कहा कि, नीतिगत मुद्दों पर राज्य स्तर के नेताओं में वैचारिक स्पष्टता और एकजुटता की कमी है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस में वैचारिक समानता जरूरी है.

गौरतलब है कि हाल में ही पंजाब कांग्रेस में बीते दिनों काफी राजनीतिक उठापटक देखने को मिली. इस लड़ाई के कारण पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह ने न सिर्फ सीएम पद से इस्तीफा दिया, बल्कि उन्होंने नयी पार्टी बनाने की बात भी कह दी. बता दें कि बैठक में सोनिया गांधी ने आगामी लोकसभा और कई राज्यों में होने वाले विधानसभा को लेकर भी कई नसीहते पार्टी नेताओं को दिये. इस बैठक में कांग्रेस नेता राहुल गांधी, और प्रियंका गांधी समेत कई और वरिष्ठ कांग्रेस नेता मौजूद थे. बैठक में पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू भी शामिल हुए. बता दें, पार्टी 1 नवंबर से सदस्यता अभियान भी चला रही है. जिसमें नये शामिल होने वाले लोगों से 10 शर्तों पर साइन लिये जायेंगे.

 

पार्टी के भावी रणनीति पर हुई चर्चा : राजेश ठाकुर

झारखंड प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष राजेश ठाकुर भी बैठक में शामिल हुए. बैठक समाप्त होने के बाद न्यूज़ विंग से बात करते हुए राजेश ठाकुर ने कहा कि बैठक में सदस्यता अभियान सहित देश के कई ज्वलंत मुद्दे पर चर्चा हुई. उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी ने सभी प्रदेश अध्यक्षों को निर्देश दिया है कि सदस्यता अभियान में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को लगाया जाये. साथ ही भाजपा के द्वारा जो झूठ का प्रचार किया जा रहा है उसका पर्दाफाश किया जाये. उन्होंने कहा कि बैठक में संगठनिक मजबूती को लेकर भी रणनीति बनी. इसके आलावा कांग्रेस पार्टी के नीति सिधान्तों को जन-जन तक पहुंचाने का निर्देश दिया गया.

इसे भी पढ़ें : हाइकोर्ट ने विधायक दीपिका पांडेय पर किसी भी तरह की कानूनी कार्रवाई करने पर लगायी रोक

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: