West Bengal

#Congress को डर : हिंसा के साये में होगा नगर पालिका चुनाव

Kolkata: कांग्रेस की पश्चिम बंगाल इकाई ने हिंसा के साये में नगर पालिका चुनाव होने की आशंका व्यक्त की है.

पार्टी के मीडिया प्रभारी अमिताभ चक्रवर्ती ने शनिवार को कहा है कि एक दिन पहले कमरहट्टी में जिस तरह से तृणमूल के दो गुटों के बीच बमबारी और आगजनी हुई है वह इस बात के संकेत हैं कि आगामी नगर पालिका चुनाव किस तरह से होने वाले हैं.

अमिताभ चक्रवर्ती ने कहा है कि कमरहट्टी में हुए हिंसक संघर्ष इस बात के संकेत हैं कि कैसे नगर पालिका चुनाव होंगे. बंगाल में अब बम, बंदूक कुटीर उद्योग हो गये हैं.

advt

ममता बनर्जी एक के बाद एक पुलिस जिला बना रही हैं लेकिन प्रशासन संविधान के अनुसार काम करने के बजाय तृणमूल नेताओं के आदेशों का पालन करने में व्यस्त है.

राज्य गृह विभाग की व्यस्तता के कारण तृणमूल के संरक्षण में अपराधी शान से घूम रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : #RMC: कमीशनखोरी के लिए निकाला गया था रोड मार्किंग का टेंडर, शिकायत के बाद हुआ रद्द

हिंसा के जिम्मेदार नेताओं पर कार्रवाई की मांग

अमिताभ ने मांग की है कि कमरहट्टी में हिंसा के लिए तृणमूल कांग्रेस के जो नेता जिम्मेवार हैं उनके खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जानी चाहिए. अगर ऐसा नहीं हुआ तो हिंसा आसपास के क्षेत्रों में भी फैल जायेगी.

adv

उल्लेखनीय है कि शुक्रवार शाम कमरहट्टी में जमकर बमबारी और आगजनी हुई थी. तृणमूल कांग्रेस के स्थानीय पार्षद और एक स्थानीय नेता के गुटों के बीच हिंसा इतनी अधिक बढ़ गई थी कि हालात को संभालने के लिए बैरकपुर के पुलिस कमिश्नर मनोज वर्मा को मौके पर पहुंचना पड़ा था.

हमलावरों ने पुलिसकर्मियों पर भी हमले कर दिये थे. घटना में धरपकड़ अभियान तो चल रहे हैं लेकिन अभी तक कोई बड़ी गिरफ्तारी नहीं हुई है.

इसके अलावा अमिताभ चक्रवर्ती का यह बयान इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि ममता बनर्जी मुख्यमंत्री होने के साथ-साथ राज्य की गृह मंत्री भी हैं. इसलिए पुलिस प्रशासन की विफलता सीधे तौर पर सीएम को जिम्मेवार बनाती हैं.

इसे भी पढ़ें : #Garhwa: अस्तबल नुमा हॉस्पिटल में टॉर्च की रोशनी में ऑपरेशन, प्रशासन ने छापामारी कर सील किया

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button