न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कांग्रेस का आरोप, 45 हजार करोड़ के #Submarine_Project में एक निजी समूह को फायदा पहुंचाने की कोशिश में मोदी सरकार

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने दावा किया कि अगले कुछ दिनों के भीतर इस परियोजना के लिए आवेदन करने वाली चार कंपनियों में से एक के चुनाव पर निर्णय होना है

159

NewDelhi :  कांग्रेस ने बुधवार को आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार 45 हजार करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट 75-आई (पनडुब्बी परियोजना) में एक निजी समूह को फायदा पहुंचाने के लिए रक्षा खरीद प्रक्रियाओं (डीपीपी) का उल्लंघन कर रही है.

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने दावा किया कि अगले कुछ दिनों के भीतर इस परियोजना के लिए आवेदन करने वाली चार कंपनियों में से एक के चुनाव पर निर्णय होना है और ऐसे में कांग्रेस राष्ट्रीय हित के ध्यान में रखते हुए इस विषय को उठा रही है.

दूसरी तरफ, सरकार अथवा रक्षा मंत्रालय या संबंधित निजी समूह की तरफ से कांग्रेस के इस आरोप पर फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी है.

इसे भी पढ़ें : #CAA विरोधी आंदोलन को धार्मिक रंग देने की कोशिश की योगी सरकार ने  : लेफ्ट-राजद  

hotlips top

पूंजीपति मित्रों के हितों को साधने का काम कर रही है सरकार ?

सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, 45,000 करोड़ रुपये की प्रोजेक्ट 75-आई पनडुब्बी खरीद परियोजना में मोदी सरकार पर पक्षपातपूर्ण निर्णय लेने, पूंजीपति मित्रों को फायदा पहुंचाने, डिफेंस प्रोक्योरमेंट प्रोसीज़र, 2016’ (डीपीपी-2016) का उल्लंघन करने तथा भारतीय नौसेना एवं उसकी एम्पॉवर्ड कमिटी को तथाकथित रूप से नजरंदाज करने का आरोप है.

संदेह के दायरे में घिरकर पूरी पनडुब्बी खरीद परियोजना पर ही सवालिया निशान खड़ा हो गया है. उन्होंने सवाल किया, क्या मोदी सरकार 45,000 करोड़ रुपये की पनडुब्बी खरीद परियोजना में अडानी डिफेंस जे वी को प्राथमिकता दे फायदा पहुंचा रही है?

क्या मोदी सरकार डीपीपी 2016 एवं उसमें दी गयी पात्रता के मापदंडों का उल्लंघन कर अपने पूजीपति मित्रों के हितों को साधने का काम कर रही है?  क्या मोदी सरकार अडानी डिफेंस जेवी की पात्रता न होने के मामले में भारतीय नौसेना एवं इसकी एम्पॉवर्ड कमिटी’ के निर्णय को खारिज कर रही है?

इसे भी पढ़ें : #JNU छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष ने जामिया यूनिवर्सिटी में कहा, हम कश्मीर को पीछे नहीं छोड़ सकते

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like