ChaibasaJharkhandJharkhand Politics

Congress Agnipath Protest: केंद्र सरकार सेना से जबरन ग‍िनवा रही अग्निपथ योजना के फायदे : गीता कोड़ा

Chaibasa : अग्निपथ योजना के खिलाफ कांग्रेस का विरोध प्रदर्शन लगातार जारी है. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस कमिटी के निर्देशानुसार सोमवार को सिंहभूम की सांसद सह झारखंड प्रदेश कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष गीता कोड़ा के नेतृत्व में चाईबासा के गांधी मैदान स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की आदमकद प्रतिमा के समक्ष कांग्रेसी सत्याग्रह पर बैठे और अग्निपथ योजना को वापस लेने की मांग की.  सांसद गीता कोड़ा ने केंद्र की भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा क‍ि केंद्र सरकार सेना के अधिकारियों से जबरन अग्निपथ योजना के फायदे ग‍िनवा रही है. अगर इस योजना से युवाओं और सेना को कोई फायदा होता तो रिटायर्ड सेना के अधिकारी अग्निपथ योजना का विरोध क्यों करते.
श्रीमती कोड़ा ने भाजपा पर युवाओं को गुमराह करने का आरोप लगाया. कहा क‍ि सेना के नाम पर भाजपा युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है. चार साल की नौकरी के बाद युवा बेरोजगार होंगे. उन्होंने कहा क‍ि भाजपा के लोग कह रहे हैं क‍ि अग्निवीरों को सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी देंगे. इससे शर्मनाक बात और क्या हो सकती है. कांग्रेस ने केंद्र सरकार को चेतावनी दी क‍ि अगर अग्निपथ योजना को तुरंत वापस नहीं लिया गया तो  विरोध प्रदर्शन देशभर में और तेज करेंगे.

इनकी रही मौजूदगी
सत्याग्रह कार्यक्रम को वरीय कांग्रेस नेता नीतिमा बारी बोदरा, राजकुमार रजक, कृष्णा सोय ने भी संबोधित किया. कार्यक्रम का संचालन नगर अध्यक्ष मुकेश कुमार जबकि धन्यवाद ज्ञापन जिला बीस सूत्री सदस्य सांसद प्रतिनिधि त्रिशानु राय ने किया. सत्याग्रह कार्यक्रम में प्रखंड अध्यक्ष दिकु सावैयां, चंद्रमोहन गौड़, मोहन सिंह हेम्ब्रम, ओबीसी प्रकोष्ठ अध्यक्ष चंद्रशेखर दास, जिला प्रवक्ता जितेन्द्र नाथ ओझा, सेवादल मुख्य संगठक लक्ष्मण हांसदा, खेल विभाग चेयरमैन जीतु बारी, प्रोफेशनल कांग्रेस चेयरमैन प्रदीप कुमार विश्वकर्मा, वरीय कांग्रेसी जंग बहादुर, यशवीर बिरुवा, शकीला बानो, अनिता देवी, रजिया खातून, रामजी शर्मा, संतोष सिन्हा, करण सिंह हेम्ब्रम, सांसद प्रतिनिधि विश्वनाथ तामसोय, राकेश कुमार सिंह, युवा कांग्रेस विधानसभा अध्यक्ष नारंगा देवगम, हरीश्‍चंद्र बोदरा, अभिजीत चन्द्र दास, राजेश कुमार दास, सिंगराय गोप, विक्रमादित्य सुंडी, राजु कारवा, नारायण निषाद, रुप सिंह बारी, अमन बालमुचू , गुरुचरण सोनकर, रवि कच्छप, दीपक सोनकर, डिबर कुदादा, सुशांत सतकर्मकार, बहादुर सिंह मुंदुईया, महाती बलमुचू , सुशील कुमार दास आदि उपस्थित थे.

ये भी पढ़ें-India’s Most Haunted Railway Station : रांची से 90 किमी दूर है एक रेलवे स्टेशन जहां ट्रेन से रेस लगाती है एक प्रेतात्मा 

ram janam hospital
Catalyst IAS

Related Articles

Back to top button