न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू : नीलाम्बर-पीताम्बर विवि के प्रथम कुलपति के निधन पर शोकसभा

39

Palamu : नीलाम्बर पीताम्बर विवि के पहले कुलपति प्रो. सलिल कुमार राय के निधन पर हर दिन शोक संवेदनाएं व्यक्त की जा रही है. एनपीयू विश्वविद्यालय में आज दोपहर बाद शोकसभा आयोजित कर दिवगंत के प्रति संवेदना व्यक्त की गयी. विदित हो कि डॉ. सलील राय 17 जनवरी 2009 को नीलाम्बर पीताम्बर विश्वविद्यालय के पहले कुलपति बनाये गए थे और तकरीबन डेढ़ वर्षों के बाद वह कोल्हान विश्वविद्यालय के वीसी होकर चाइबासा चले गए थे. वे एक कुशल प्रशासक एवं विद्वान शिक्षक थे.

उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि देने वालों में कुलपति प्रो एसएन सिंह, कुलसचिव डॉक्टर राकेश कुमार, वित्त परामर्शी कैलाश राम, डीएस डब्ल्यू डॉ एनके तिवारी, प्रॉक्टर डॉ एके पांडे, वित्त पदाधिकारी डॉ नकुल प्रसाद, संतोष कुमार, राजीव मुखर्जी, वेद प्रकाश शुक्ला, अविनाश, सचिन आदि उपस्थित थे. उन्हें श्रद्धांजलि देने हेतु शुक्रवार को विश्वविद्यालय में उनके बाल्यकाल के मित्र डॉ के.एन दूबे, पूर्व कुलपति भी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें-कोल्हान प्रमंडल के पारा शिक्षकों ने राजभवन के समक्ष किया प्रदर्शन

एनपीयू को शुरुआती शक्ल प्रदान की थी डॉ. सलिल राय ने : नामधारी

इधर, झारखंड विधानसभा के प्रथम अध्यक्ष इंदर सिंह नामधारी ने भी शोक व्यक्त करते हुए डा. राय को कर्मठ और उर्जावान प्राध्यापक बताया. नामधारी ने कहा कि स्व. सलिल राय नीलाम्बर-पीताम्बर विश्वविद्यालय के प्रथम कुलपति थे, जिन्होंने अपने संक्षिप्त कार्यकाल में विश्विद्यालय को शुरुआती शक्ल प्रदान की. स्व. राय को वे इसलिए भी याद करते हैं, क्योंकि जब तत्कालीन मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा से नये विश्वविद्यालय के निर्माण का मामला तय हो गया तो झारखंड विधानसभा में रखे जाने वाले प्रस्ताव का प्रारूप स्व. राय ने ही बनाकर दिया था. वे एक कर्मशील प्राध्यापक भी थे, जिन्हें झारखंड की जनता लम्बे समय तक याद रखेगी. मैं उनके प्रति अपनी श्रद्धाजंलि अर्पित करता हूं.

विदित हो कि बुधवार को कुलपति डॉ. सलिल राय का निधन हो गया था. डॉ. राय कैंसर से पीड़ित थे. उनका इलाज दिल्ली में चल रहा था. लिवर कैंसर की शिकायत के बाद डा. राय को इलाज के लिए दिल्ली में भर्ती कराया गया था.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: