HEALTHJharkhandRanchi

108 फ्री एंबुलेंस का हाल,कीड़े और जानवरों के काटने पर बुला ले रहे एंबुलेंस

Ranchi: राज्य में मरीजों को समय से हॉस्पिटल पहुंचाने के उद्देश्य से 108 फ्री एंबुलेंस सर्विस की शुरुआत की गई है. जिससे कि गोल्डन आवर में मरीजों को हॉस्पिटल पहुंचाकर उनकी जान बचाई जा सके. यह सर्विस लोगों के लिए लाइफलाइन साबित भी हो रही है. लेकिन कुछ ऐसे भी लोग है जो कीड़े और जानवरों के काटने पर भी एंबुलेंस बुला ले रहे है. जिससे कि जरूरतमंदों को समय से एंबुलेंस की सुविधा नहीं मिल पा रही है. वहीं इस वजह से फोन लाइन भी बिजी रह रही है.

8151 लोगों ने एंबुलेंस कॉल किया

हर दिन 108 कंट्रोल रूम में एंबुलेंस के लिए हजारों लोग कॉल करते है. जिन्हें तत्काल रिस्पांस दिया जाता है. पिछले साढ़े चार साल में 8151 लोगों ने कीड़ा और जानवर काटने के बाद एंबुलेंस के लिए कॉल किया. इसके अलावा कई अन्य बीमारियों के लिए भी लोगों ने एंबुलेंस बुलाया. अबतक साढ़े 8 लाख लोगों को एंबुलेंस की सुविधा मुहैया कराई गई है.

इसे भी पढ़ें: पलामू-गढ़वा में मंकीपॉक्स के एक भी मरीज नहीं, संदिग्धों की रिपोर्ट निगेटिव
फेक कॉल्स से भी हो रही परेशानी

108 इमरजेंसी एंबुलेंस सर्विस के लिए शुरू किया गया. लेकिन फेक कॉल्स ने कंट्रोल रूम के स्टाफ की परेशानी बढ़ा दी है. कुछ-कुछ देरी पर आने वाली फेक कॉल्स के कारण लाइन बिजी रहती है. जिससे कि इमरजेंसी वालों को लाइन बिजी का मेसेज मिलता है. ऐसे में उन्हें समय पर एंबुलेंस सर्विस नहीं मिल पाती. वहीं कई लोग एंबुलेंस बुलाकर गायब हो जाते है. ऐसे में एंबुलेंस तो जगह पर पहुंच जाती है. लेकिन वहां कोई नहीं मिलता.

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसे भी पढ़े: पंकज मिश्रा का अब Psychiatrist करेंगे इलाज, अलग-अलग बीमारी बताने से डॉक्टर्स परेशान

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

Related Articles

Back to top button