न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

‘आपका मंच’ में शिकायतें आनी शुरू, पहले दिन आये 25 मामले

18

Palamu : टेली कांफ्रेंसिंग सहित अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से शिकायतें सुनने के लिए शुरू किया गया ‘आपका मंच’ शुक्रवार से कार्य करने लगा है. पहले दिन मंच पर 25 शिकायतें आयीं. शिकायतों के आलोक में कार्रवाई भी शुरू कर दी गयी है. लक्ष्मी लाडली, आंगनबाड़ी केंद्रों का नियमित संचालन नहीं होना और मानदेय भुगतान की शिकायतें दर्ज की गयी.

टेलीफोन के साथ-साथ फेसबुक पेज के माध्यम से भी ऑनलाइन शिकायतें दर्ज करायी. जिला समाज कल्याण पदाधिकारी शत्रुंजय कुमार ने बताया कि आपका मंच का रिस्पांस काफी अच्छा रहा. टेलीफोन के माध्यम 20 से 25 शिकायतें दर्ज की गयी. फेसबुक पेज पर भी ऑनलाइन 366 लोग जुड़े थे. उन्होंने बताया कि संबंधित शिकायतकर्ता की शिकायतों को जहां तक हो सका ऑन स्पॉट निपटारा करने के साथ शिकायतों को रजिस्टर में दर्ज कर लिया गया.

इस तरह की आयी शिकायतें

मुख्यमंत्री लक्ष्मी लाडली योजना, आंगनबाड़ी केंद्रों का नियमित नहीं चलना और सेविका-सहायिकाओं के मानदेय भुगतान से संबंधित शिकायतें आयी. लक्ष्मी लाडली योजनों में शिकायतकर्ताओं को कहा गया कि वे फार्म जमा करें एक सप्ताह के अंदर उनका काम हो जायेगा. इसी प्रकार बंद केंद्रों को दो दिनों के अंदर शुरू करने और बकाये मानदेय का भुगतान एक सप्ताह के अंदर करने की जानकारी शिकायतकर्ताओं को दी गयी.

फेसबुक पेज पर भी अधिकारी ऑनलाइन रहेंगे

बता दें कि 25 दिसंबर सुशासन दिवस पर ‘आपका मंच‘ कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया था. शिकायत के लिए टेलिफोन संख्या-06562222554 पर पूर्वाहन 11 बजे दोपहर  1  बजे तक संवाद स्थापित किया जा सकता है. अगर जनता की कोई अन्य शिकायत है तो वे लोग व्हाट्सएप नम्बर 9060281444 के द्वारा संवाद की तिथि से एक दिन पूर्व अपनी शिकायत को निर्धारित व्हाट्सएप नंबर पर भेज सकते हैं, ताकि इसका निष्पादन अगले दिन सुनिश्चित किया सके. इसके अलावा उपायुक्त पलामू के फेसबुक पेज पर भी अधिकारी ऑनलाइन रहेंगे. फेसबुक पेज के कमेंट्स बॉक्स में अपनी समस्या लिख कर उसका निदान पा सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंः आइपीएस तदाशा मिश्र के बेटे ने खुद को मारी गोली, मौत

इसे भी पढ़ेंः कैग की रिपोर्ट से साबित होता है कंबल घोटाला, पर सरकार जांच के नाम पर कर रही लीपापोती, साल बीत गया, नहीं हुई कोई कार्रवाई

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: