Lead NewsNationalTOP SLIDER

कोरोना से जान गंवाने वाले रेलकर्मियों के आश्रितों को अनुकंपा पर जल्दी मिलेगी नौकरी

रेलकर्मियों के राष्ट्रीय संगठन एनएफआईआर ने इस बारे में रेलवे बोर्ड को लिखा था खत

New Delhi : कोरोना वायरस की वजह से होनेवाली Covid 19 बीमारी की पहली औऱ दूसरी लहर में जान गंवाने वाले रेलकर्मियों की विधवाओं/बच्चों को अनुकंपा के आधार पर नियुक्ति देने की दिशा में भारतीय रेल (Indian Railways) तेजी से काम कर रहा है. साथ ही ऐसे मृतक कर्मियों के निपटान बकाये, फैमिली पेंशन और ग्रेचुएटी आदि के भुगतान को भी भारतीय रेलवे (Indian Railways) द्वारा जल्दि पूरा कराने की प्रक्रिया चल रही है.

इसे भी पढ़ें : रांची के एदलहातू में जमीन कारोबारी की हत्या, जांच में जुटी पुलिस

समय सीमा के अंदर काम पूरा करने का निर्देश

रेलवे बोर्ड ने सभी जोन और प्रोडक्शन यूनिट्स के महाप्रबंधकों को ये काम समयसीमा के भीतर पूरा करने के आदेश भी जारी किए हैं. दरअसल, रेलकर्मियों के राष्ट्रीकय संगठन एनएफआईआर ने इस बारे में रेलवे बोर्ड को खत लिखकर इस मामले में चिंता जाहिर की थी.

advt

इस पर रेलवे बोर्ड (Railway Board) के निदेशक, स्था पना (एन) एमएम राय ने सभी जोन और प्रोडक्शन यूनिट्स के महाप्रबंधकों को पत्र लिखकर कहा कि रेल संगठनों की तरफ से अनुरोध किया गया है कि कोविड 19 महामारी की वजह से मारे गए रेलवे कर्मियों के बच्चों्/विधवाओं को अनुकंपा के आधार पर नौकरी देने के काम में तेजी लाई जाए.

उन्होंकने सभी महाप्रबंधकों से कहा कि मुश्किलों का सामना कर रहे मृतक रेलकर्मियों का ध्यावन रखते हुए ऐसे मामलों का प्रमुखता के आधार एवं एक तय समयसीमा के भीतर निपटान किया जाए.

adv

इसे भी पढ़ें : पहले NDA की बैठक का बहिष्कार फिर अपने बयान से पलटे मुकेश सहनी, सीएम नीतीश की जमकर की तारीफ

NFIR के प्रवक्ता ने दी जानकारी

NFIR के प्रवक्ता एसएन मलिक ने बताया कि कोविड 19 की पहली और दूसरी वेव में कई रेलवेकर्मियों को अपनी जान गंवानी पड़ी है. इससे इन रेलवे कर्मियों के परिवारों के सामने बड़ा संकट खड़ा हो गया है. ऐसे में इनकी मुश्किलों को ध्यासन में रखते हुए महासचिव एम रघुवईया ने रेलवे बोर्ड को पत्र लिखकर योग्ये आश्रित को अनुकंपा के आधार पर जल्द नौकरी देने एवं अन्ये बकाये भुगतान को समय पर दिए जाने की मांग की थी. इस पर रेलवे बोर्ड की तरफ से कदम उठाते हुए जल्दे से जल्दय इन कार्यों को पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं.

इसे भी पढ़ें : 42 लाख 50हजार के साथ प्राइवेट कंपनी का कर्मचारी लापता, परिजन परेशान

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: