न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

18 साल की तुलना : 8000 हेक्टेयर में फैला है छत्तीसगढ़ का न्यू कैपिटल एरिया ‘न्यू रायपुर’

रिकॉर्ड समय में पूरा हुआ न्यू रायपुर का काम, 2012 में तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने किया था उद्घाटन, झारखंड के साथ हुआ था छत्तीसगढ़ और उत्तराखंड अलग राज्यों का गठन

60

Deepak

Ranchi : झारखंड के साथ-साथ छत्तीसगढ़ और उत्तराखंड भी 15 नवंबर 2000 को ही अलग राज्य के रूप में अस्तित्व में आये थे. छत्तीसगढ़ प्रशासन ने इन 18 वर्षों में नयी राजधानी नया रायपुर की स्थापना कर ली. 8000 हेक्टेयर भूमि में फैले नया रायपुर को अटल नगर के नाम से भी जाना जाता है. यहां पर राज्य का मुख्य सचिवालय भवन, विधानसभा भवन, आवासीय कॉलोनी, ज्वेलरी स्पेशल इकोनॉमिक जोन (एसईजेड), आईटी एसईजेड का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है. इतना ही नहीं, नया रायपुर में 75.20 किलोमीटर तक फोर और सिक्स लेन सड़क भी बनवायी गयी है, जो एनएच 30 और एनएच-53 को जोड़ती है. 61 किलोमीटर की सिक्स लेन सड़क बनने के करीब है. इस वृहद परिसर में 24 घंटे पानी की आपूर्ति करने के लिए 156.23 करोड़ रुपये खर्च किये गये हैं. अबाधित बिजली की आपूर्ति पूरी तरह स्वचालित है, जो स्काडा सिस्टम से कंट्रोल होती है. बिजली कटने के आधा घंटे पहले यह एसएमएस आ जाता है कि कितने बजे से कितने बजे तक बिजली कटी रहेगी.

इसे भी पढ़ें- स्टन गन ग्रेनेड की गोलियों की गूंज के बीच मना राज्य का स्थापना दिवस, नौ कैबिनेट मंत्रियों ने नहीं की…

झारखंड में किराये के भवन में हैं मंत्रालय और विधानसभा

इधर, झारखंड में 18 वर्ष बाद भी किराये के मकान में राज्य सरकार का मंत्रालय, मंत्रालय से जुड़ीं एजेंसियां, विधानसभा भवन, सचिवालयकर्मियों के आवास हैं. एचईसी प्रबंधन के प्रमुख भवनों पर सरकार का प्रोजेक्ट भवन मंत्रालय, विधानसभा, विधायक आवास, मंत्रियों का आवास, एचईसी कॉलोनी के खाली पड़े मकानों को सरकार की तरफ से अधिग्रहित कर उसे कर्मियों को आवंटित किया गया है. कुल मिलाकर एक दर्जन से अधिक बड़े परिसरों पर सरकार के विभाग चल रहे हैं. सरकार की तरफ से एचईसी की तीन हजार एकड़ जमीन अधिग्रहित की गयी है. इसमें ही विधानसभा भवन बनवाया जा रहा है. 55 एकड़ जमीन पर हाई कोर्ट का नया भवन बनाया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें- गुंडागर्दी पर उतर आयी है रघुवर सरकार: जेवीएम

तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने 2012 में किया था नया रायपुर का उद्घाटन

तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने 2012 में नया रायपुर का उद्घाटन किया था. यह देश का पहला ऐसा क्षेत्र था, जो ग्रीन प्रोजेक्ट के नाम से जाना जाता है. राज्य सरकार ने इसके लिए न्यू रायपुर डेवलपमेंट अथॉरिटी का गठन किया था, जिससे अटल नगर के सभी भवनों और आधारभूत संरचनाओं का रखरखाव और अन्य कार्य किये जाते हैं. नया रायपुर में थीम टाउनशिप, पांच सितारा होटल, लॉजिस्टिक्स हब, विवेकानंद एयरपोर्ट, 2600 बहुमंजिला आवासों की इकाइयां बनायी गयी हैं. राज्य सरकार नयी राजधानी में 2031 तक पांच लाख से अधिक लोगों को बसायेगी.

इसे भी पढ़ें- स्थापना दिवस : रैफ वालों ने मीडियाकर्मियों को टारगेट कर पीटा और कैमरा छीना, SSP ने कहा- ऐसा करना…

चार कंसल्टेंट ने परियोजनाओं को समय पर किया पूरा

नया रायपुर के लिए राज्य सरकार की तरफ से चार कंसल्टेंट नियुक्त किये गये थे. इनमें प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसल्टेंट के रूप में शिलाडिया एसोसिएशन इनकॉर्पोरेशन अमेरिका का चयन किया गया था. कैपिटल सिटी कॉम्प्लेक्स के लिए उत्तम सी जैन मुंबई, आर्किटेक्चरल कंसल्टेंट के रूप में कंफर्ट डिजाइनर्स को सरकार की तरफ से कार्यादेश दिया गया था.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: