JharkhandRanchi

जोहार परियोजना के तहत काम कर रहीं कंपनियां 100 करोड़ तक टर्नओवर बढ़ायें: सचिव

Ranchi : ग्रामीण विकास सचिव मनीष रंजन ने कल्याणकारी योजनाओं को समय पर पूरा करने और आजीविका सशक्तीकरण पर विशेष ध्यान देने का निर्देश अधिकारियों को दिया. मनीष रंजन मंगलवार को झारखंड स्टेट लाईवलीहुड प्रमोशन सोसाइटी के कार्यो की समीक्षा कर रहे थे.

जोहार परियोजना के क्रियान्वयन में अपेक्षित गति लाने का निर्देश देते हुए डॉ. मनीष रंजन ने कहा कि जोहार एक समयबद्ध परियोजना है. जिसके लक्ष्यों को समय पर पाने के लिए अनुश्रवण पर ध्यान देने की जरुरत है. उन्होंने जोहार परियोजना द्वारा गठित उत्पादक कंपनियों की संख्या आवश्यकतानुसार बढ़ाने की जरुरत पर बल दिया.

उत्पादक कंपनियों के टर्न ओवर पर चिंता जताई. जोहार अंतर्गत उत्पादों की बिक्री के ज्यादा अवसर किसानों को उपलब्ध कराने के लिए आवश्यक कार्रवाई करने का निदेश दिया.

वहीं जोहार उत्पादक कंपनियों के टर्न ओवर को 100 करोड़ तक ले जाने का निर्देश दिया. ग्रामीण विकास सचिव ने जोहार परियोजना अंतर्गत उच्च मूल्य कृषि की गतिविधियों को धरातल पर उतारने के लिए मास्टर ट्रेनर की संख्या बढ़ाने का निदेश दिया.

इसे भी पढ़ें :हाइकोर्ट की फटकार के बाद चला बुलडोजर, कई लोग हुए बेघर

प्रशिक्षण की गुणवत्ता सुनिश्चित कर उसे और प्रभावी बनाने का निदेश दिया. जोहार अंतर्गत लिफ्ट सिंचाई परियोजना के क्रियान्वयन पर असंतोष जाहिर करते हुए ग्रामीण विकास सचिव ने परियोजनाओं का लाभ ग्रामीण परिवारों तक पहुंचाना सुनिश्चित करने का निर्देश दिया. आजीविका फार्म फ्रेश मॉडल को अन्य जिलों में विस्तार करने के लिए कहा.

डॉ. मनीष रंजन ने राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन अंतर्गत रांची में संचालित आजीविका फार्म फ्रेश के जरिए ताजी सब्जियों की होम डिलीवरी सर्विस की सराहना की. कहा कि इसे अन्य जिलों में शुरू करने एवं पलाश उत्पादों को भी उसमें जोड़ने का प्रयास करें.

राज्य में जैविक खेती को बड़े स्तर पर बढ़ाने की जरुरत है. साथ ही सर्टिफिकेशन कराना भी सुनिश्चित किया जाए. ताकि किसानों को उत्पादों की और अच्छी कीमत मिल सके. ग्रामीण विकास सचिव डॉ. मनीष रंजन ने कहा कि सखी मंडल की दीदियों को आर्थिक सबल बनाने के लिए क्रेडिट लिंकेज पर और ज्यादा ध्यान देने की जरुरत है.

इसे भी पढ़ें :पेगासस पर पॉलिटिक्सः रामेश्वर ने कहा-खतरे में है प्राइवेसी, बाबूलाल का भ्रम के सहारे राजनीति करने का आरोप

एफएफपी भवन में दीदी कैंटीन खुलेगा

ग्रामीण विकास सचिव ने एफएफपी भवन स्थित ग्रामीण विकास विभाग के कार्यालय में दीदी कैंटीन खोलने के लिए अवश्यक कदम उठाने का निदेश दिया गया. समीक्षा बैठक के दौरान सीईओ जेएसएलपीएस नैन्सी सहाय, परियोजना निदेशक, जोहार समेत राज्य कार्यक्रम प्रबंधक एवं कार्यक्रम प्रबंधक उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें NH-33: रांची-रड़गांव सेक्शन में अभी भी रैयतों के बीच 44 करोड़ नहीं बंटे, रुका है काम

Related Articles

Back to top button