GiridihJharkhand

पाकिस्तान और बांग्लादेश में रहनेवाले समुदाय विशेष सुरक्षित हैं तो उन देशों के अल्पसंख्यकों को भारत में जगह क्यों नहीं : रवीन्द्र राय

  • नागरिक संशोधन अधिनियम और एनआरसी के दुष्प्रचार के कारण भाजपा को झारखंड की सत्ता गंवानी पड़ी

Giridih: पूर्व सांसद सह भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ रवीन्द्र राय ने प्रेसवार्ता कर एनआरसी और नागरिक संशोधन अधिनियम को लेकर कांग्रेस पर तुष्टीकरण के तहत समाज में सांप्रदायिकता घोलने का आरोप लगाया.

उन्होंने कहा कि भाजपा राष्ट्रवाद को प्राथमिकता देती आयी है. जिसका प्रत्यक्ष उदाहरण सीएए है, जो पाकिस्तान और बांग्लादेश के अल्पसंख्यक शरणार्थियों के मानवीय जीवन को सुरक्षित करनेवाला है.

नागरिक संशोधन अधिनियम का विरोध करनेवाले कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दलों पर हमलावर होते हुए पूर्व सांसद राय ने कहा कि धर्म के आधार पर भारत से अलग हो कर पाकिस्तान और बांग्लादेश बना. इन देशों में रहने वाले मुस्लिम समुदाय की बात करें, तो वह वहां सुरक्षित है, लेकिन विरोध करनेवाले इसका जवाब भी दें, कि आखिर बांग्लादेश और पाकिस्तान में रहनेवाले अल्पसंख्यकों में जैन, पारसी, ईसाई और हिंदु शरणार्थी अगर भारत में नहीं रहें तो फिर कहां रहें?

इसे भी पढ़ें – हेमंत ने पहली ही कैबिनेट बैठक में रिक्त पदों को भरने का दिया निर्देश, 40,000 नौकरियों की जगी उम्मीद

धार्मिक उन्मादियों के बहकावे में न आयें युवा

लिहाजा, यही सवाल अब तक लगातार उठता रहा है, आखिर इन देशों के शरणार्थियों का सुरक्षित ठिकाना कहां है. ऐसे में वह युवाओं से खास तौर पर आह्वान करेंगे कि समाज में सांप्रदायिकता का जहर घोलनेवाले धार्मिक उन्मादियोंवाले दलों के बहकावे में कोई युवा नहीं आयें.

भाजपा वही कर रही है जो राष्ट्र के लिए सही है. प्रेसवार्ता के दौरान पूर्व सांसद राय ने गांधी-नेहरू और सरदार पटेल का उदाहरण देते हुए कहा कि इन तीनों ने भी बांग्लादेश और पाकिस्तान में रहनेवाले शरणार्थियों की चिंता की थी. जिसे भाजपा ने आजादी के कई सालों बाद पूरा किया है. शरणार्थियों का उदाहरण देते हुए कहा कि राजस्थान के पाकिस्तान से सटे सीमावर्ती इलाकों में शरणार्थियों का हाल देखें, कांग्रेस समेत विरोध करनेवाले विपक्षी दल. किस प्रकार राजस्थान में शरणार्थी रह रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – जिन्हें नागरिकता मिलेगी वे कहां जायेंगे और क्या खायेंगे, केला या लॉलीपॉप : ममता 

प्रेसवार्ता के क्रम में पूर्व सांसद ने एक सवाल के जवाब में साफ तौर पर कहा कि सीएए का दुष्प्रचार कर ही झारखंड की सत्ता को कांग्रेस, झामुमो और राजद ने हासिल किया है. पूरे चुनाव प्रचार में एनआरसी का दुप्रचार किया गया. जिसे कहीं ना कहीं भाजपा को सत्ता गंवानी पड़ी. वैसे झारखंड में मिली हार की समीक्षा करने की बात पूर्व सांसद ने प्रेसवार्ता के दौरान की.

प्रेसवार्ता के क्रम में नगर निगम के डिप्टी मेयर प्रकाश सेठ, जिप उपाध्यक्ष कामेशवर पासवान, भाजपा नेता संजीत सिंह पप्पू, विवेश जालान, शिशुपाल सिंह के अलावे प्रवीण चौधरी, भाजपा नेत्री संजू देवी समेत कई भाजपा नेता मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें – रातू में जमीन कारोबारी की अपराधियों ने गोली मार कर की हत्या

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button