न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सूर्य मंदिर पर टिप्पणी, पत्रकार को जमानत देने से SC का इनकार, कहा, जेल सुरक्षित जगह

सुप्रीम कोर्ट ने पत्रकार और राजनीतिक टिप्पणीकार अभिजीत अय्यर मित्रा को जमानत देने से इनकार कर दिया. 

135

NewDelhi :   सुप्रीम कोर्ट ने पत्रकार और राजनीतिक टिप्पणीकार अभिजीत अय्यर मित्रा को जमानत देने से इनकार कर दिया. बता दें कि मित्रा ने ओडिशा के कोणार्क सूर्य मंदिर को लेकर कथित तौर पर अपमानजनक टिप्पणी की थी. उन्हें पिछले माह गिरफ्तार किया गया था. खबरों के अनुसार अपमानजनक टिप्पणी के मामले में  चार अक्टूबर को जमानत की सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा, आप देश के धार्मिक विश्वास को उकसा रहे हैं, यह जमानत का मामला नहीं है. इस क्रम में अय्यर मित्रा के वकील ने कोर्ट में दलील दी कि उनके मुवक्किल की जान को खतरा है, तो चीफ जस्टिस ने गोगोई ने कहा, अगर तुम्हारे मुवक्किल को खतरा है तो जेल से सुरक्षित कोई जगह नहीं है.पत्रकार को 20 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था. उन पर आरोप लगा था कि उन्होंने 13वीं सदी के कोणार्क सूर्य मंदिर की अपनी यात्रा को लेकर एक वीडियो ट्विटर पर पोस्ट किया था. साथ ही कथित तौर पर भगवान जगन्नाथ और मूर्ति कलाकृतियों को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी.

इसे भी पढ़ेंःमायावती की कांग्रेस से नाराजगी पर बोले तेजस्वी, समय का कीजिए इंतजार

कोणार्क सूर्य मंदिर के बारे में बेहूदा और गैर जिम्मेदाराना टिप्पणी का आरोप

hosp1

बता दें कि ओडिशा पुलिस ने कोर्ट में कहा कि आरोपी ने धार्मिक भावनाओं को भड़काने और चोट पहुंचाने के इरादे से कोणार्क सूर्य मंदिर के बारे में बेहूदा और गैर जिम्मेदाराना टिप्पणी की. इससे सांप्रदायिक टकराव पैदा हो सकता   है. इस संबंध में निचली अदालत ने अभिजीत अय्यर को जमानत देते हुए आदेश दिया था कि वह 28 सितंबर को ओडिशा पुलिस के समक्ष पेश हो. इसके बाद पत्रकार ने कथित तौर पर जान को खतरा बताते हुए जांच से दूरी बना ली थी.  पिछले माह ओडिशा हाई कोर्ट के वकीलों की हड़ताल थी, इसलिए गिरफ्तारी से बचने के लिए सुप्रीम कोर्ट  का रुख किया था. सुप्रीम कोर्ट ने आरोपी की अस्थाई जमानत गुरुवार तक के लिए बढ़ा दी थी.  कोर्ट यदि उसे दोषी करार देता है, तो उसे तीन साल के कारावास की सजा हो सकती है.

इसे भी पढ़ेंः आदरणीय श्री मोदीजी, आप कृपया पेट्रोल-डीजल को GST के दायरे में ले आइए : राहुल गांधी

ओडिशा विधानसभा में विशेषाधिकार प्रस्ताव पेश किया गया है

कोर्ट ने पत्रकार को यह आदेश भी दिया है कि वह अगले हफ्ते विधायकों  के समक्ष पेश हो, जो यह देखेंगे कि उसके खिलाफ क्या कार्रवाई की जाये. बता दें कि ओडिशा विधानसभा में विशेषाधिकार प्रस्ताव पेश किया गया है. इसमें विधायकों ने मांग की है कि अय्यर मित्रा के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाये. विपक्ष के नेता नरसिंघा मिश्रा के अनुसार दो वीडियो क्लिप हैं. उसमें एक गैर-उड़िया आदमी कोणार्क मंदिर के सामने खड़ा है और आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए कह रहा है कि कला और मूर्तिकला हिंदू संस्कृति के विपरीत है. उसकी टिप्पणीय अनुचित और निंदनीय हैं.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: