न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मेरी आगोश में आ जाओ… एक रात संग गुजारो… फिर दे दूंगा अच्छे नंबर

गुरु ने न सिर्फ अपनी शिष्याओं के साथ गलत व्यवहार किया है, बल्कि उन्हें ब्लैकमेल करके शारीरिक संबंध बनाये हैं.

887

Bokaro : शिक्षक अपने छात्रों के लिए भगवान तुल्य होते हैं, उनके आदर्श होते हैं. लेकिन जब यही शिक्षक छात्रों के भक्षक बन जायें तो इससे ज्यादा शर्मसार करने वाली बात कुछ और नहीं हो सकती. कुछ ऐसा ही मामला बोकारो से आया है. जहां एक गुरु ने न सिर्फ अपनी शिष्याओं के साथ गलत व्यवहार किया है, बल्कि उन्हें ब्लैकमेल करके शारीरिक संबंध बनाये हैं. साथ ही उन्हें फेल करने की धमकी भी दिया करता है. जिससे छात्राएं डर कर किसी से ये बात नहीं कह पाती हैं. लेकिन अब एक छात्रा ने अपनी हिम्मत दिखायी है.

इसे भी पढ़ें – स्कूल बंद करो और शराब की दुकान खोलो, यही है रघुवर सरकार की नीति : झामुमो

ये मामला बोकारो महिला कॉलेज का है. जहां पढ़ने वाली कई छात्राओं ने कॉलेज के ही प्रोफेसर डॉ शशि शेखर पाठक पर गंभीर आरोप लगाये हैं. छात्राओं का कहना है कि, प्रोफेसर कॉलेज के परीक्षा नियंत्रक हैं और साथ ही अंग्रेजी के हेड ऑफ डिपार्टमेंट भी. जो आये दिन छात्राओं के साथ अश्लील हरकतें करते हैं और बहाने से अपने कक्ष में बुलाकर गलत नीयत से छूने की कोशिश भी करते हैं. इसके अलावा छात्राओं का आरोप है कि परीक्षा नियंत्रक होने की वजह से प्रोफेसर ने लड़कियों से उनके वाह्ट्सएप नंबर मांगे हैं और उसपर आधी रात को चैट करते हैं और कहते हैं कि एक बार मेरी आगोश में आकर रात गुजार लो. छात्राओं का कहना है कि फोन नंबर नहीं देने पर वे फेल करने की धमकी भी देते हैं. कई छात्राओं ने तो यहां तक बताया कि प्रोफेसर आधी रात को चैटिंग करने के लिए बाध्य करते हैं और बेहद गंदी बातें करते हैं, जो किसी लड़की के लिए बता पाना मुश्किल है.

मेरी आगोश में आ जाओ... एक रात संग गुजारो... फिर दे दूंगा अच्छे नंबर
प्रोफेसर के चैट की तस्वीर

इसे भी पढ़ें – झारखंड के 88 एनजीओ के दफ्तरों पर छापा, कई आपत्तिजनक कागजात जब्त

प्रोफेसर चैट में बेहद अश्लील बातें करता था

मेरी आगोश में आ जाओ... एक रात संग गुजारो... फिर दे दूंगा अच्छे नंबर
प्रोफेसर के चैट की तस्वीर

हालांकि उन्हीं लड़कियों में से कॉलेज की ही एक छात्रा  को लेकर प्रोफेसर ने ये हल्ला भी उड़ाया कि उसके साथ कई बार शारीरिक संबंध भी बना चुका है. जब इस बात की खबर उस छात्रा को लगी तो उसने एक फेक आईडी (जूली के नाम से) बनाकर प्रोफेसर के साथ चैट किया. उस चैट में भी जूली ने प्रोफेसर से पूछा तो उसने फिर से उस छात्रा से शारीरिक संबंध बनाने की बात कही. जबकि पूछने वाली छात्रा खुद वही थी, जो जूली बनकर चैट कर रही थी. प्रोफेसर के द्वारा किये गये चैट में निहायत ही गंदी बातें थी. प्रोफेसर जूली से बार-बार मिलने के लिए बुला रहा था और शारीरिक संबंध बनाने पर खुलकर नंबर बढ़ाने की बात कर रहा था. जब जूली ने इनकार किया तो उसने कॉलेज की कई लड़कियों के नाम गिनाये और साथ ही कहा कि संजू फिल्म में 350 लड़कियों से संबंध की बात कही गयी है. साथ ही कहा कि मैंने तो अपनी जिंदगी में 400 से ज्यादा लड़कियों से संबंध बनाये हैं. प्रोफेसर चैट में बेहद अश्लील बातें कर रहा था और बार-बार जूली को मिलने के लिए बुला रहा था. लेकिन छात्रा, जूली बनकर सिर्फ प्रोफेसर से खुद के बारे में जानने के लिए ही चैट कर रही थी.

palamu_12

इसे भी पढ़ें – शर्मनाक ! बेटी के शव को घंटों कंधे पर लाद PMCH में भटकता रहा लाचार पिता

महिला लेक्चरर ने भी प्रोफेसर के चरित्र पर सवाल उठाया

मेरी आगोश में आ जाओ... एक रात संग गुजारो... फिर दे दूंगा अच्छे नंबर
प्रोफेसर के चैट की तस्वीर

वहीं इस मामले में छात्रा ने कॉलेज की प्रिंसिपल से शिकायत की है. साथ ही बोकारो स्टील सिटी थाने में मामला भी दर्ज कराया है. जबकि कॉलेज की प्रिंसिपल ने छात्रा को आश्वासन दिया है कि वह इस मामले में कार्रवाई करेंगीं. प्रोफेसर की गंदी हरकतों का मामला सामने आने के बाद कॉलेज से ही पढ़कर वहां की महिला लेक्चरर ने भी प्रोफेसर के चरित्र पर सवाल उठाया. लेकिन डर से वह सब सामने नहीं आ रही हैं. इसके अलावा कई ऐसी भी छात्राएं हैं, जिनका कहना है कि अगर प्रोफेसर पर कार्रवाई हुई तो वह सब भी कोर्ट आकर अपनी गवाही देंगीं.

इसे भी पढ़ें – विकास योजनाओं में डीपीआर का जबरदस्त खेल, रवींद्र भवन का प्रोजेक्ट कॉस्ट भी बढ़ा

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: