JamshedpurJharkhand

सीएलसी देने के नाम पर विद्यार्थियों का दोहन कर रहे जमशेदपुर के कॉलेज, कोल्हान विवि को जानकारी नहीं

Jamshedpur :  जमशेदपुर में कोल्हान यूनिवर्सिटी के कॉलेजों के अंदर कॉलेज लीविंग सर्टिफिकेट जारी करने के लिए कॉलेज छोड़नेवाले विद्यार्थियों से मनमानी रकम वसूली जा रही है. गौरतलब है कि इंटर का रिजल्ट निकलने के बाद छात्रों को एक कॉलेज से दूसरे कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए अपने कॉलेजों से सीएलसी निकालनी पड़ रही है. इस मौके के लाभ उठाते हुए शहर के कॉलेजों ने सीएलसी निकालने के शुल्क को  मनमाने तरीके से बढ़ा दिया है. जबकि सीएलसी चार्ज को लेकर यूनिवर्सिटी की तरफ से ऐसा कोई भी नोटिफिकेशन जारी नहीं किया गया है. मनमाने तरीके से शुल्क बढ़ाये जाने के कारण छात्र-छात्राओं को काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा है. छात्र संगठन एआईडीएसओ ने इसे लेकर आंदोलन की चेतावनी दी है.

इसे भी पढ़ें – गोलमुरी में युवक ने लगाई फांसी, एमजीएम अस्पताल में डॉक्टरों ने किया मृत घोषित

advt

कोई फिक्स रेट निर्धारित नहीं

कोल्हान यूनिवर्सिटी की तरफ से अभी तक कॉलेजों से सीएलसी निकालने को लेकर कोई फिक्स रेट निर्धारित नहीं किया गया है, जिसका लाभ कॉलेज उठाया रहे हैं.

यूनिवर्सिटी को नहीं है जानकारी

न्यूज विंग ने जब कोल्हान यूनिवर्सिटी के अधिकारियों से सीएससी के नाम पर मनमानी रकम लिये जाने की जानकारी ली, तो  उन्होंने कहा कि उनेके पास कॉलेजों के द्वारा सीएलसी शुल्क बढ़ाये जाने की कोई जानकारी नहीं है. उन्होंने कहा कि यूनिवर्सिटी की तरफ शुल्क बढ़ाने को लेकर कॉलेजों को कोई निर्देश नहीं दिया गया है.

छात्र नेता करेंगे विरोध

एआईडीएसओ की जमशेदपुर प्रेसिडेंट सोनी सेन गुप्ता और एबीपी से सागर ओझा ने कहा है कि कॉलेजों द्वारा मनमाने तरीके से बढ़ायी गयी सीएलसी शुल्क को  वापस नहीं लिया गया, तो छात्र उग्र आंदोलन करेंगे. क्योंकि कोरोना काल के बाद से ज्यादातर लोगों की आर्थिक स्थिति खराब हो चुकी है.  ऊपर से कॉलेजों की ओर से मनमाना रेट बढ़ा कर छात्रों पर आर्थिक बोझ बढ़ाया गया है. कोल्हान यूनिवर्सिटी के प्रवक्ता डॉ पीके पाणि ने बताया कि कॉलेज ऐसी मनमानी नहीं कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर जल्दी ही सभी कॉलेजों के प्रिंसिपल के साथ बैठक की जायेगी.

इसे भी पढ़ें –  आदित्यपुर की सीमा गाय के गोबर से बना रही हैं लक्ष्मी-गणेश की प्रतिमाएं

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: