JharkhandRanchi

श्रीलंका में फंसी कोल्ड फॉगिंग मशीन पहुंची विशाखापट्टनम, अभी रांची को और करना होगा इंतजार

Ranchi: राजधानी में मच्छरों का आतंक है. वहीं बारिश के बाद अचानक से मच्छरों की संख्या बढ़ गई है. कुछ इलाकों में तो स्थिति यह है कि दिन में ये लोगों को चैन से बैठने नहीं दे रहे हैं. जिससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि शाम ढलते ही क्या होता होगा. अब नगर निगम भी छह नई कोल्ड फॉगिंग मशीनों के आने का इंतजार कर रहा है. जी हां, रांची नगर निगम की छह कोल्ड फॉगिंग मशीनें श्रीलंका में फंस गई थी. अब मशीनें कुछ दिन पहले विशाखापट्टनम पहुंच गई है. जिससे कि पूरे शहर में फॉगिंग के लिए अभी और इंतजार करना होगा.

2 करोड़ से अधिक की है मशीनें

रांची नगर निगम पहले मच्छरों को खात्मे के लिए थर्मल फॉगिंग मशीन का इस्तेमाल करता था. इसमें डीजल की खपत के साथ पॉल्यूशन भी काफी होता था. डीजल का खर्च और पॉल्यूशन कंट्रोल करने के लिए 2019 में रांची नगर निगम ने तीन कोल्ड फॉगिंग मशीन 1 करोड़ पांच लाख में खरीदी. इसके बाद नगर निगम ने छह और मशीनों की खरीदारी के लिए टेंडर कर दिया. दो करोड़ से अधिक की इन मशीनों के लिए कंपनी को आर्डर भी कर दिया गया.

क्या है मशीन की खासियत

Sanjeevani

कोल्ड फॉगिंग मशीन को चलाने के लिए डीजल की जरूरत नहीं होती. पानी में केमिकल मिलाकर इसका स्प्रे किया जाता है. जिससे मच्छरों से छुटकारा मिलता है. इसके अलावा इससे लार्वीसाइडल का भी छिड़काव किया जा सकता है. जिससे कि यह पर्यावरण को भी नुकसान नहीं पहुंचाता और पॉल्यूशन भी नहीं फैलता. वहीं इससे हमारे आसपास रहने वाले जानवरों को भी नुकसान नहीं पहुंचता.

थर्मल का इस्तेमाल वीआईपी इलाकों में

कोल्ड फॉगिंग की खरीदारी से पहले शहर में थर्मल फॉगिंग कराई जाती थी. इसके लिए एक दर्जन से अधिक मशीनें रांची नगर निगम के पास थीं. अब कुछ मशीनें वीआइपी इलाकों में फॉगिंग के लिए इस्तेमाल की जा रही हैं. बाकी की मशीनें निगम के बकरी बाजार स्थित स्टोर में खड़ी हैं. बताते चलें कि हाईकोर्ट ने कुछ साल पहले नगर निगम के अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई थी. साथ ही यह भी कहा था कि जल्द शहर में फॉगिंग की व्यवस्था सुधारे नहीं तो मच्छरों वाले इलाकों में उन्हें भेज दिया जाएगा. इसके बाद से वीआईपी इलाकों में फॉगिंग रेगुलर कराई जा रही है. लेकिन बाकी के इलाकों में कोई देखने वाला नहीं है.

इसे भी पढ़ें: रांची में सीएम ने सिरमटोली-राजेंद्र चौक-मेकॉन फ्लाईओवर की रखी आधारशिला

Related Articles

Back to top button