National

गठबंधन की सरकार से अर्थव्यस्था की रफ्तार पड़ेगी धीमी- रघुराम राजन

Davos: अगर देश में गठबंधन की सरकार बनी तो अर्थव्यवस्था की रफ्तार धीमी पड़ जायेगी. ये आशंका आरबीआई के पूर्व गवर्नर ने रघुराम राजन ने जताई है. लोकसभा चुनाव की सरगर्मी के बीच उन्होंने बड़ा बयान देते हुए कहा कि अगली बार अगर देश में गठबंधन की सरकार बनती है तो विकास की रफ्तार धीमी पड़ सकती है. साथ ही उन्होंने कहा कि इकोनॉमी को गति देने के लिए उद्योगों के लिए अनुकूल माहौल बनाने की जरुरत है.

एक पत्रिका से खास बातचीत में राजन ने आशंका जताई है कि अगर 2019 लोकसभा चुनाव के बाद देश में गठबंधन की सरकार आती है तो अर्थव्यवस्था की रफ्तार धीमी पड़ सकती है. इसके अलावे कांग्रेस सरकार आने की स्थिति में उनके वित्त मंत्री बनने की चर्चाओं को भी खारिज किया. उन्होंने कहा कि मैं कोई राजनीतिज्ञ नहीं हूं, ये सब महज अटकलें हैं.

स्विट्जरलैंड के दावोस में चल रहे वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के दौरान इंडिया टुडे से बातचीत में रघुराम राजन ने जीएसटी और नोटबंदी समेत आरबीआई की स्वतंत्रता समेत कई मसलों पर बात की और अपने विचार रखें. इस दौरान उन्होंने कहा कि देश में उद्योगों के अनुकूल माहौल बनाने की जरूरत है.

ram janam hospital
Catalyst IAS

GST को ठहराया सही कदम

The Royal’s
Sanjeevani

पूर्व गवर्नर राजन ने जीएसटी और नोटबंदी पर भी अपनी राय रखी. जीएसटी को जहां उन्होंने सकारात्मक कदम बताया. वहीं दूसरी तरफ नोटबंदी पर खुलकर कुछ नहीं कहा लेकिन उसे सेटबैक यानी झटका करार दिया.

उल्लेखनीय है कि पूर्व आरबीआई गवर्नर का बयान ऐसे समय में आया है, जब विपक्ष लगातार मोदी सरकार के खिलाफ एकजुट होकर महागठबंधन करने में जुटा है. वहीं पीएम मोदी लगातार विपक्ष की मोर्चा बंदी पर निशाना साधते हुए कह रहे हैं कि वो मजबूर सरकार चाहते हैं, और हम मजबूत. अब रघुराम राजन के इस बयान ने पीएम मोदी की दलील को बल दिया है.

इसे भी पढ़ेंः  राहुल ने फिर मोदी पर आरोप मढ़ा, चौकीदार ने वायुसेना के 30 हजार करोड़ अनिल अंबानी को दे दिये

Related Articles

Back to top button